उच्च के शनि दिलाते हैं कार्य क्षेत्र में तरक्की

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना : किसी भी व्यक्ति के कार्य क्षमता का स्तर देखने के लिए कुंडली में शनि की स्थिति देखी जाती है. कुंडली में शनि दशम भाव में संबंध रखते हों तो व्यक्ति को कार्यक्षेत्र में अत्यधिक परेशानी झेलनी पड़ती है. इससे व्यक्ति अपनी योग्यता का पूरा उपयोग नहीं कर पाता है.

वहीं, द्वादश भाव बली होने पर व्यक्ति आराम तलवी होता है और कार्यक्षमता में कमी आती है. शनि के बलि होने पर व्यक्ति के काम करने की क्षमता विकसित होती है. जिससे दिनों-दिन वह उत्तरोत्तर वृद्धि करता है.

यह कहना है दैवज्ञ श्रीपति त्रिपाठी का. वे गुरुवार को प्रभात खबर कार्यालय में ज्योतिष काउंसेलिंग के दौरान पाठकों के सवालों के जवाब में बोल रहे थे.

पंडित श्रीपति त्रिपाठी ने सवालों के दिये जवाब

-बेटे को नौकरी कब तक मिलेगी? मुजफ्फरपुर, शीला मिश्रा

कर्क लग्न और सिंह राशि है. राहु की महादशा और बुध का अंतर चल रहा है. कर्क लग्न में बुध अकारक हाेते हैं. इससे मानसिक और शारीरिक परेशानी बनी हुई है. बेहतरी के लिए महामृत्युंजय का जप करें. नौकरी के योग चल रहे हैं. प्रयासरत रहें.

-भविष्य कैसा रहेगा? गोलू , बेगुसराय.

कुंभ लग्न और मिथुन राशि है. शनि की दशा है. शनि दूसरे आरिष्ठ स्थान में बैठे हैं. इससे सेहत संबंधी परेशानी बनी रहेगी. शनिवार के दिन शनि भगवान की पूजा-अर्चना करें. राहु दोष का उपाय करें. नौकरी की संभावना है. शनि के मंत्रों का जप करें. इससे स्थिति में सुधार होगा.

-कैरियर किस क्षेत्र में बनायें? शिखा , वैशाली

मकर लग्न की कुंडली है. कुंभ राशि है. गुरु की महादशा और गुरु का अंतर है. समय बेहतर चल रहा है. शिक्षा के क्षेत्र में कैरियर बनाना शुभ रहेगा. बेहतरी के लिए सूर्य की उपासना करें. रविवार के दिन गुड़ का सेवन करें.

-आर्थिक समस्या से निजात कब तक मिलेगी ? सत्यनारायण, दरभंगा.

मीन लग्न और कुंभ राशि है. शनि की महादशा और शुक्र का अंतर है. इससे स्थिरता की कमी है. इससे शारीरिक व मानसिक परेशानी बनी हुई है. बेहतरी के योग करें. इससे मन पर नियंत्रण पा सकेंगे. कुछ काम समय पर टाल दें. आलस्य को त्याग कर मां दुर्गा की उपासना करें. साथ ही महामृत्युजंय का जप करें. इससे आर्थिक परेशानी से निजात पा सकेंगे.

-मानसिक रूप से परेशानी बनी हुई है. रोहतास, नीता

चंद्रमा के कारण अकारण मानसिक परेशानी बनी रहेगी. ऐसे में चंद्रमा के दोष को दूर करने के लिए पूर्णिमा का व्रत करें. स्वास्थ्य संबंधी परेशानी के लिए किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क करें. बेहतरी के लिए शुक्रवार का व्रत करें. ऐसा नियमित करने से मानसिक परेशानियों से मुक्ति मिल सकेगी. मां दुर्गा की आराधना करें.

-आर्थिक समस्या से निजात कब तक मिलेगी? किशोर कुमार, समस्तीपुर

कन्या लग्न , मिथुन राशि है. गुरु की दशा अौर मंगल की अंतरदशा है. कन्या लग्न में अकारक ग्रह बृहस्पति, आर्थिक दृष्टि से परेशानी देता है. 2020 तक ऐसी स्थिति बनी रहेगी. सूर्य व शनि साथ होने से पिता को परेशानी बनी रहेगी. ऐसे में बेहतरी के लिए मां देवी की उपासना करें. साथ ही किसी प्रकार का रत्न धारण करने से बचें.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें