1. home Hindi News
  2. photos
  3. up election 2022 sp chief akhilesh yadav jhansi samajwadi vijay yatra rally photos abk

किसी के हाथ में लैपटॉप तो कोई घोड़े पर सवार, अखिलेश यादव की रैली और समर्थकों के अजब-गजब रंग

अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि हमारी सरकार में माताओं-बहनों को पेंशन दी जा रही थी, जिसे बीजेपी सरकार में छीन लिया गया. किसान जब अपना हक मांगने के लिए निकले तो उन्हें जीप से कुचल दिया गया.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Lucknow
Updated Date
किसी के हाथ में लैपटॉप तो कोई घोड़े पर सवार, अखिलेश यादव की रैली और समर्थकों के अजब-गजब रंग

UP Election 2021: उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव शुक्रवार को बुंदेलखंड के तीन दिनों के दौरे के आखिरी दिन झांसी पहुंचे.

किसी के हाथ में लैपटॉप तो कोई घोड़े पर सवार, अखिलेश यादव की रैली और समर्थकों के अजब-गजब रंग

झांसी में समाजवादी विजय यात्रा लेकर पहुंचे अखिलेश यादव ने केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार पर खूब जुबानी हमले किए. अखिलेश यादव ने एक बार फिर किसानों में इंकलाब होगा, बाइस में बदलाव होगा का नारा दिया.

किसी के हाथ में लैपटॉप तो कोई घोड़े पर सवार, अखिलेश यादव की रैली और समर्थकों के अजब-गजब रंग

अखिलेश यादव की समाजवादी विजय यात्रा में कार्यकर्ताओं को अजीब रंग-रूप में भी देखा गया. झांसी पहुंची अखिलेश यादव की समाजवादी विजय यात्रा को लेकर समर्थकों में काफी उत्साह दिखा. बड़ी संख्या में कार्यकर्ता परंपरागत ड्रेस में नजर आए.

किसी के हाथ में लैपटॉप तो कोई घोड़े पर सवार, अखिलेश यादव की रैली और समर्थकों के अजब-गजब रंग

भीड़ से कोई लैपटॉप दिखा रहा तो कोई घोडे़ पर बैठकर अखिलेश यादव को सुनने आता दिखा. मंच से अखिलेश यादव ने कहा कि रोजगार छीनने वाली, किसानों पर जीप चढ़ाने वाली बीजेपी सरकार का सफाया तय है.

किसी के हाथ में लैपटॉप तो कोई घोड़े पर सवार, अखिलेश यादव की रैली और समर्थकों के अजब-गजब रंग

अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि हमारी सरकार में माताओं-बहनों को पेंशन दी जा रही थी, जिसे बीजेपी सरकार में छीन लिया गया. किसान जब अपना हक मांगने के लिए निकले तो उन्हें जीप से कुचल दिया गया. ऐसा कभी देखने को नहीं मिला. केवल अंग्रेजों के जमाने में देखने को मिला था.

किसी के हाथ में लैपटॉप तो कोई घोड़े पर सवार, अखिलेश यादव की रैली और समर्थकों के अजब-गजब रंग

अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि दिल्ली और लखनऊ में बड़े-बड़े विज्ञापन लगाकर रोजगार देने के दावे किए जा रहे हैं. बाबा ने सब नौकरिया और रोजगार छीन लिए. नौकरी और रोजगार नहीं दिखाई दे रहा है. सड़कों और खेतों में केवल बैल दिखाई दे रहा है.

किसी के हाथ में लैपटॉप तो कोई घोड़े पर सवार, अखिलेश यादव की रैली और समर्थकों के अजब-गजब रंग

सपा चीफ ने कहा कि गरीबों की जेब से पैसा निकालकर अमीरों की तिजोरियों को भरने का काम हो रहा है इसीलिए डीजल-पेट्रोल महंगा है. महंगाई का हिसाब-किताब लगाओगे तो वो दुगनी हो गई है. कमाई आधी और महंगाई दुगनी तो बताओ खुशहाली कैसे आएगी?

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें