1. home Hindi News
  2. photos
  3. rakesh tikait political strong west up vidhan sabha chunav after kisan andolan avi

'पॉलिटिक्स से तौबा, किसान आंदोलन के जरिए सत्ता से संघर्ष'- पश्चिमी यूपी में मजबूत हुआ राकेश टिकैत का वजूद?

सियासी गलियारों में चर्चा है कि टिकैत फैमिली के कुछ लोग विधानसभा का चुनाव लड़ सकते हैं. हालांकि अभी तक ना तो सीनियर टिकैत और ना ही राकेश टिकैत ने इसपर कुछ कहा है. किसान आंदोलन के बाद अब पश्चिमी यूपी को लेकर राजनीतक विश्लेषकों की नजर सिसौली गांव की तरफ है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Lucknow
Updated Date
rakesh tikait bku
rakesh tikait bku
twitter

कृषि कानून और एमएसपी सहित कई मांगों को लेकर चल रहे किसान आंदोलन खत्म हो गया है. एक ओर यूपी चुनाव से पहले सरकार की पहल की चर्चा हो रही है, वहीं दूसरी ओर किसान नेता राकेश टिकैत भी सुर्खियां बटोर रहे हैं.

आंदोलन खत्म होने के बाद राकेश टिकैत ने ट्वीट किया
आंदोलन खत्म होने के बाद राकेश टिकैत ने ट्वीट किया
twitter

किसान आंदोलन शुरू होने के तीन महीने बाद ही हिंसक प्रदर्शन की वजह से खत्म माना जा रहा था, लेकिन राकेश टिकैत ने इसे जिन्दा कर दिया. आखिर में एक साल 14 दिन बाद सरकार को घुटने टेकने पड़े और कृषि कानून वापस लेना पड़ा.

गाजीपुर बॉर्डर पर राकेश टिकैत
गाजीपुर बॉर्डर पर राकेश टिकैत
twitter

2007 में खतौली से विधानसभा और 2014 में अमरोहा से लोकसभा चुनाव हार चुके राकेश टिकैत ने चुनावी राजनीति नहीं करने का ऐलान कर दिया है. वहीं राकेश टिकैत ने आंदोलन खत्म करने के बाद कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा खत्म नहीं होगा.

rakesh tikait rally
rakesh tikait rally
twitter

वहीं किसान आंदोलन खत्म होने के बाद राकेश टिकैत के अगले कदम ट्विटर सबकी नजर है. हालांकि टिकैत बार-बार चुनाव नहीं लड़ने की बात कह रहे हैं. वहीं बताया जा रहा है कि राकेश टिकैत जिधर होंगे, उधर पश्चिमी यूपी के किसान और जाट वोटर जाएगा.

rakesh tikait news
rakesh tikait news
twitter

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में करीब 17% जाट वोटर है. पश्चिमी यूपी में पिछले तीन चुनावों में बीजेपी बढ़िया परफॉर्मेंस करते आ रही है. हालांकि किसान आंदोलन के बाद यहां के मतदाताओं का रूख किधर होगा, इसपर सस्पेंस बरकरार है.

rakesh tikait
rakesh tikait
twitter

राकेश टिकैत ने मुजफ्फरनगर रैली में जाट और मुस्लिम को एक साथ लाने की कवायद की थी. टिकैत ने सबको साथ मिलकर सरकार से लड़ने का आह्वान किया था. ऐसे में पश्चिमी यूपी में जाट और मुस्लिम समीकरण अगर बनती है, तो राकेश टिकैत का आह्वान सफल हो सकता है.

sanjeev balyan के साथ Rakesh Tikait
sanjeev balyan के साथ Rakesh Tikait
Twitter

इधर, चर्चा है कि टिकैत फैमिली के कुछ लोग विधानसभा का चुनाव लड़ सकते हैं. हालांकि अभी तक ना तो सीनियर टिकैत और ना ही राकेश टिकैत ने इसपर कुछ कहा है. बताया जा रहा है कि किसान आंदोलन के बाद अब पश्चिमी यूपी को लेकर राजनीतक विश्लेषकों की नजर सिसौली गांव की तरफ है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें