Advertisement

patna

  • Jul 12 2019 5:12AM
Advertisement

पटना :मिराज की पत्नी रेशमा के साथ मुनौवर आलम को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पटना :मिराज की पत्नी रेशमा के साथ मुनौवर आलम को पुलिस ने किया गिरफ्तार
पटना : अपराधी मिराज उर्फ रिंकू को पेशी के दौरान दानापुर कोर्ट से भगाने की साजिश मिराज की मास्टर माइंड पत्नी रेशमा ने ही रची थी. उसके कहने पर गौतम मिराज को पिस्टल थमा कर बाइक से फरार हो गया था. 
 
दरअसल मिराज के जेल जाने के बाद रेशमा उसे छुड़ाने के लिए साजिश रच रही थी. जब वह इसमें अकेली पड़ने लगी तो उसने मिराज के साथियों मिलाया. पुलिस ने रेशमा को बुद्धा कॉलोनी के एक गर्ल्स हॉस्टल से गिरफ्तार किया है. मिराज उसे हॉस्टल में ही रखता था. 
 
सारा खर्च वही उठाता था. मिराज जब भी पेशी पर आता था तो रेशमा उससे मिलने कोर्ट जाती थी. सीसीटीवी फुटेज में वह कोर्ट में कई बार दिखी है. इसी दौरान कोर्ट से भागने की प्लानिंग की गयी. इस पूरे मामले की मास्टर मांइड रेशमा को माना जा रहा है. पुलिस अब इस बात की जांच कर रही है कि मिराज के पास हथियार कैसे पहुंचा. किसने उसके हाथ में हथियार दिया है. 
 
रेशमा के कहने पर गौतम ने मिराज को फरार कराने की बनायी थी योजना: पुलिस ने मिराज की निशानदेही पर छापेमारी कर उसकी पत्नी रेशमा व मुनौवर आलम जानीपुर निवासी को गिरफ्तार किया है. मिराज ने एसएसपी गरिमा मल्लिक के समक्ष स्वीकार किया है कि गौतम ने कोर्ट हाजत से कैदी वैन पर सवार होने के दौरान फरार होने की साजिश रची थी. 
 
इसके लिए मिराज की पत्नी रेशमा ने गौतम को तैयार किया था. गौतम बाइक पर सवार था और उसके साथ आये तीन-चार आये लोग ने कोर्ट मुख्य द्वार पर से गोलीबारी शुरू कर दी. इसके बाद पुलिस को धक्का देकर फरार हो गये. गौतम  पिस्टल थमा कर बाइक से फरार हो गया था. गौतम बोधगया के मठ पर का निवासी है. उसके पिता का नाम अशोक पासवान है.

एसएसपी ने की रेशमा और मुनौवर आलम से लंबी पूछताछ
 
एसएसपी गरिमा मल्लिक ने करीब ढ़ाई घंटे तक थाने में गिरफ्तार मिराज इमाम व उसकी पत्नी रेशमा व जानीपुर निवासी मुनौवर आलम से पूछताछ की. पुलिस ने बताया कि रेशमा गया की मूल निवासी है और मिराज ने प्रेम विवाह किया है. मिराज, रेशमा व मुनौवर आलम को पूछताछ के बाद जेल भेज दिया गया. गौतम व मुनौवर दोनों ऊंट की देखभाल करता है.
 
बेऊर जेल में बंद मिराज उर्फ रिंकू के चार साथियों से होगी पूछताछ
 
शातिर अपराधी व वाहन लुटेरा मिराज उर्फ रिंकू के पुलिस अभिरक्षा से भागने के बाद क्या प्लानिंग थी, इसकी छानबीन पुलिस ने शुरू कर दी है. 
 
पुलिस बेऊर जेल में भी पूछताछ करेगी. जेल में बंद मिराज के चार साथी रोहित कुमार, बबलू कुमार, पंकज कुमार, मिराज उर्फ मन्ना से पुलिस राज उगलवायेगी. सूत्रों कि मानें तो जिस तरह से कोर्ट में पेशी के दौरान मिराज ने भागने की कोशिश की है, उससे साफ है कि यह लोग किसी बड़ी घटना काे अंजाम देने वाले थे. पुलिस मिराज की पत्नी, परिवार के अन्य सदस्य रिश्तेदार सबसे पूछताछ कर रही है.  

भागने में सहयोग करने वाले भी किये जा रहे चिह्नित 
 
बुधवार शाम करीब 4.30 बजे जब मिराज की कोर्ट में पेशी के दौरान उससे मिलने वाले सभी लोगों को चिह्नित किया जा रहा है. संरक्षण देने से लेकर मिराज के हाथ में पिस्टल थमाने वाले की जांच हो रही है. 
 
पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज भी खंगाला है. एसएसपी गरिमा मलिक पूरे दिन दानापुर और फुलवारी में रही हैं. मिराज का पूरा गैंग वाहन लुटेरा है. 3 जुलाई को कोतवाली पुलिस ने गैंग के सभी सदस्यों को रिमांड पर लिया था. इस दौरान कोतवाली क्षेत्र के मिनाक्षी होटल के पास से लूटी गयी स्कार्पियो बरमाद की गयी थी.

सिपाही कमल किशोर के बयान पर दर्ज हुआ केस
 
दानापुर : सिपाही प्रभाकर राज को गोली मार कर हत्या करने के मामले में सिपाही कमल किशोर के बयान पर स्थानीय थाना में मामला दर्ज किया गया है. कमल  किशोर ने बयान में बताया कि बुधवार शाम करीब साढ़े चार बजे कोर्ट हाजत से कैदियों को कैदी वैन में सवार किया जा रहा था. 
 
इसी दौरान कोर्ट के मुख्य द्वार के पास से गोलीबारी की आवाज हुआ. एक कैदी पुलिस को धक्का देकर कोर्ट के मुख्य द्वार की ओर भगने लगा. उसे भागता देख सिपाही प्रभाकर राज  अन्य सहयोगी के साथ पकड़ने के लिए दौड़े. कैदी के भागने के दौरान 2-3 अज्ञात भी भागने लगे. 
 
इसी दौरान एक अज्ञात ने कैदी को पिस्टल थमा दी. सिपाही प्रभाकर ने कैदी को मुख्य गेट के बाहर पकड़ने का प्रयास किया. इसी दौरान मिराज ने प्रभाकर को  पिस्टल से गोली मार दी. सिपाही वहीं गिर पड़ा और उसकी मौत हो गयी. भाग रहे कैदी को सिपाही मनोज कुमार ने खदेड़कर दबोचा.
 
जिला जज ने सदर कोर्ट की सुरक्षा का किया निरीक्षण
 
पटना : दानापुर कोर्ट से कैदी मिराज द्वारा भागने के प्रयास में कांस्टेबल प्रभाकर राज की गोली मार कर हत्या करने का मामला सामने आने के बाद कोर्ट की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर जिला जज रूद्र प्रकाश मिश्र ने निरीक्षण किया. 
 
इस दौरान जज ने सदर कोर्ट के हर जगह तैनात पुलिसकर्मियों को सक्रिय रहने का निर्देश दिया. जिला जज ने तमाम पुलिसकर्मियों से मुलाकात भी की और उनसे भी सुरक्षा को लेकर उनके विचार मांगे. जिला जज के निरीक्षण के बाद गुरुवार को सदर कोर्ट के अंदर व बाहर सुरक्षा के कड़े प्रबंध कर दिये गये और गेट पर तैनात सुरक्षाकर्मियों ने लोगों की मेटल डिटेक्टर से जांच की. 
 
पटना : वकीलों की सुरक्षा पर मुख्य न्यायाधीश ने जतायी चिंता
 
पटना : दानापुर कोर्ट में गोली चलने और सिपाही की हत्या के कारण वकीलों में दहशत का माहौल है. पटना हाइकोर्ट के तीन अधिवक्ता संघों की समन्वय समिति के अध्यक्ष योगेश चंद्र वर्मा ने गुरुवार को हाइकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश अमरेश्वर प्रताप  शाही से भेंट कर दानापुर की घटना के बाद वकीलों की भावना से अवगत कराया. 
 
मुख्य न्यायाधीश  ने घटना को गंभीर बताया और आश्वासन दिया कि वकीलों और कोर्ट परिसर की सुरक्षा के लिए वे जरूरी कदम उठाने जा रहे हैं. उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अपील की है कि वे अपने स्तर से ठोस कार्रवाई करें, ताकि भविष्य में ऐसी घटनाओं से बचा जा सके. 
 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement