Advertisement

jamshedpur

  • Jul 15 2019 5:28AM
Advertisement

मां काे कैंसर था, सही इलाज नहीं किया तो डॉक्टर पर की फायरिंग, दो धराए

मां काे कैंसर था, सही इलाज नहीं किया तो डॉक्टर पर की फायरिंग, दो धराए
जमशेदपुर : एमजीएम के कैंसर स्पेशलिस्ट डॉ एसके कुंडू पर फायरिंग करने वाले दो बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. उनके पास से दो खिलौना पिस्तौल बरामद की गयी है. साथ ही बाइक, मोबाइल व कपड़े भी जब्त किये गये हैं. एक पिस्तौल लाइटर है, जबकि दूसरी बैलून फोड़ने वाली. 
 
हालांकि अब तक दोनों बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया गया है. गिरफ्तार युवक सरफराज आलम उर्फ छोटू आजादनगर (क्रॉस रोड नंबर 19) के हुसैनी मोहल्ला का रहने वाला है. उसका साथी शाहिद खान उर्फ शहजादा कपाली के बांदूगोड़ा स्कूल के पास रहता है. रविवार को यह जानकारी एसएसपी अनूप बिरथरे ने दी. 
 
 उन्होंने बताया, सरफराज आलम की मां काे कैंसर था. डॉ कुंडू ने उनका इलाज किया था, लेकिन वह ठीक नहीं हो सकी. बाद में सरफराज अपनी मां को मुंबई लेकर गया, जहां डॉक्टर ने बताया कि उसकी मां को गलत ढंग से कीमो दिया गया था. इस कारण उनकाे बचाना मुश्किल है. कुछ दिनों के बाद ही उनकी मौत हो गयी.
 
 इलाज में सरफराज के काफी पैसे खर्च हो गये थे, जिससे वह आर्थिक तंगी से जूझ रहा था. इसी का बदला लेने के लिए उसने साथी के साथ मिलकर डॉ कुंडू पर फायरिंग की.
पुलिस ने बाइक, खिलौना पिस्तौल व आरोपियों के कपड़े जब्त किए अब तक दोनों बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया गया
 
आइएमए महासचिव बोले-झूठ बोल रहा, आयुष्मान से हुआ था इलाज
आइएमए के जिला महासचिव मृत्युंजय सिंह ने कहा कि डॉ कुंडू पर फायरिंग करने वाले दोनों युवक को गिरफ्तार करने पर एसएसपी और एसपी सिटी को बधाई है. अब डॉक्टर बेखौफ होकर काम कर सकेंगे. उन्होंने कहा- गिरफ्तार युवक द्वारा दिया गया बयान झूठा है. उसकी मां का इलाज आयुष्मान भारत योजना के तहत किया गया था. इसके कारण इलाज में खर्च नहीं हुआ. कैंसर ऐसी बीमारी है, जिससे बचना मुश्किल है.
 
धमकी देने के लिए युवक से छीना था मोबाइल 
एसएसपी अनूप बिरथरे ने बताया, डॉ एस के  कुंडू को धमकी देने से पूर्व सरफराज व शाहिद ने छह जुलाई को शहर के जुबिली फ्लैट के पास एक युवक से मोबाइल की छिनतई की थी. हालांकि मोबाइल छिनतई की शिकायत थाने में नहीं की गयी थी. उसी मोबाइल से डॉ कुंडू को धमकी देकर रंगदारी मांगी गयी थी. 
 
पहले पांच, फिर 10 लाख रुपये मांगी थी रंगदारी 
एसएसपी ने बताया, सरफराज ने डॉ कुंडू से सात जुलाई को पहले पांच लाख रुपये, फिर दूसरी बार कॉल कर 10 लाख रुपये रंगदारी मांगी. सरफराज ने करीब तीन माह तक अपनी मां का इलाज डॉ कुंडू से कराया था. इस कारण उसे पता था कि डॉ कुंडू कब किस जगह रहते हैं. फायरिंग करने के बाद दोनों जुबिली पार्क के रास्ते सोनारी दोमुहानी स्थित नया पुल पार कर कपाली की ओर भागे थे. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement