Advertisement

news

  • Dec 5 2018 7:42PM

हिंदी में चित्रा मुद्गल और संताली में श्याम बेसरा सहित 24 को साहित्य अकादमी पुरस्कार

हिंदी में चित्रा मुद्गल और संताली में श्याम बेसरा सहित 24 को साहित्य अकादमी पुरस्कार

नयी दिल्ली : साहित्य अकादमी ने कालजयी और मध्यकालीन साहित्य तथा गैर मान्यताप्राप्त भाषाओं में योगदान के लिए विभिन्न क्षेत्रों के लेखकों को भाषा सम्मान देने का बुधवार को ऐलान किया.

 

अकादमी ने अपने प्रतिष्ठित वार्षिक पुरस्कारों के लिए हिन्दी में चित्रा मुद्गल, अंग्रेजी में अनीस सलीम, उर्दू में रहमान अब्बास, संस्कृत में रमाकांत शुल्क, संताली में श्याम बेसरा 'जीवी रारेक', पंजाबी में मोहनजीत और अंग्रेजी में अनीस सलीम समेत कुल 24 भारतीय भाषाओं के लेखकों का चयन किया है.

हिंदी की जानी-मानी कथाकार चित्रा मुद्गल को बुधवार को उनके उपन्यास पोस्ट बॉक्स नं.203-नाला सोपारा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार देने की घोषणा की गयी है. अकादमी द्वारा इस बार सात कविता संग्रह, छह कहानी संग्रह तीन आलोचना और दो निबंध-संग्रह को यह पुरस्कार दिया जाएगा.

अकादमी के अध्यक्ष चंद्रशेखर कम्बार की अध्यक्षता में निर्णायक समिति ने इन पुरस्कारों को मंजूरी दे दी है. यह पुरस्कार 29 जनवरी को दिल्ली में दिए जाएंगे जिसमें प्रत्येक विजेता को एक-एक लाख रुपये, एक उत्कीर्ण ताम्र फलक और एक प्रशस्ति पत्र मिलेगा.

अकादमी के सचिव श्रीनिवास राव ने पत्रकारों को बताया कि कालजयी एवं मध्यकालीन साहित्य में योगदान के लिए उत्तरी क्षेत्र से (2017 के लिए) हिंदी के प्रख्यात कवि एवं लेखक डॉ योगेंद्र नाथ शर्मा 'अरुण' को भाषा सम्मान देने का निर्णय किया है.

वहीं दक्षिण क्षेत्र से (2017 के लिए) कन्नड़ के प्रख्यात लेखक एवं आलोचक जी. वेंकटसुबैय्या का भाषा सम्मान के लिए चयन किया गया है.

राव ने कहा कि पूर्वी क्षेत्र से (2018 के लिए) ओड़िया के प्रख्यात विद्वान एवं लेखक डॉ गगनेंद्र नाथ दाश को भाषा सम्मान से सम्मानित किया जाएगा.

उन्होंने बताया कि पश्चिम क्षेत्र में मराठी की प्रतिष्ठित लेखिका डॉ शैलजा बापट को पुरस्कृत किया जाएगा.

राव ने बताया कि गैर मान्यता प्राप्त भाषाओं की श्रेणी में कोशली-संबलपुरी में डॉ हलधर नाग और डॉ प्रफुल्ल कुमार त्रिपाठी को संयुक्त रूप से पुरस्कार देने का निर्णय किया गया है.

उन्होंने बताया कि पाइते भाषा के प्रतिष्ठित लेखक एच. नेङसाङ को 2017 के लिए भाषा सम्मान से नवाजा जाएगा.

राव ने बताया कि हरियाणवी भाषा के लिए हरियाणा के प्रतिष्ठित लेखक हरिकृष्ण द्विवेदी और लेखिका डाॅ शमीम शर्मा को संयुक्त रूप से भाषा सम्मान से नवाजा जाएगा.

यहां देखें विजेताआें की पूरी सूची-



Advertisement

Comments

Other Story

Advertisement