Advertisement

Company

  • Sep 4 2018 9:49AM

पेट्रोल-डीजल में महंगाई की आग, पड़ेगा आपकी जेब पर असर, कांग्रेस ने कसा तंज

पेट्रोल-डीजल में महंगाई की आग, पड़ेगा आपकी जेब पर असर, कांग्रेस ने कसा तंज
ani pic

नयी दिल्ली /मुंबई : देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतें मंगलवार को रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गयीं. आज दिल्ली में पेट्रोल 79.31 रुपये/लीटर जबकि डीजल 71.34 रुपये/लीटर मिलेगा. वहीं , मुंबई में आज पेट्रोल 86.72 रुपये/लीटर जबकि डीजल 75.74 रुपये/लीटर की कीमत पर मिलेगा. इससे पहले सोमवार को पेट्रोल की कीमत 31 पैसे बढ़ी. वहीं, डीजल की कीमत में 44 पैसे की बढ़त हुई.

सोमवार को मुंबई में पेट्रोल 86.56 रुपये प्रति लीटर हो गया, जो किसी भी मेट्रो शहर में अब तक का सबसे ज्यादा रेट था. वहीं, कल दिल्ली में पेट्रोल 79.15 रुपये हो गया. सबसे ज्यादा आग डीजल में लगी हुई है. सोमवार को यह मुंबई में 75.54  रुपये प्रति लीटर के स्तर पर पहुंच गया. दिल्ली में भी एक लीटर की कीमत 71.15 रुपये हो गयी.

अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड के महंगा होने और रुपये की विनिमय दर में गिरावट की वजह से तेल कंपनियां पेट्रोल-डीजल के रेट बढ़ा रही हैं. डीजल व पेट्रोल जीएसटी से बाहर हैं. इसलिए राज्यों में इन पर स्थानीय बिक्री कर की दरें अलग-अलग होने से पेट्रोलियम ईंधन के मूल्य भी अलग-अलग हो जाते हैं. कर भार कम होने के कारण दिल्ली में ईंधन के दाम अन्य  मेट्रो शहरों और राज्यों की राजधानियों की तुलना में कम है.

कांग्रेस का कटाक्ष  मोदी जी, त्योहार पर तो कृपा कर देते

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि मोदी जी, आज त्योहार के दिन तो जनता पर कुछ कृपा कीजिए. महंगाई के बोझ तले दब रही जनता, लगातार 10 वें दिन पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के भार से त्राहिमाम-त्राहिमाम कर रही है! आपके जुमलों पर टैक्स नहीं है, लेकिन पेट्रोल-डीजल पर  ये टैक्स कब कम होंगे?

बढ़ेगी महंगाई

डीजल की कीमतों में वृद्धि के कारण महंगाई बढ़ सकती है, क्योंकि खाद्य व कृषि उत्पादों के परिवहन के लिए वाहनों में डीजल ही इस्तेमाल होता है. ऐसे में खान-पान की वस्तुएं महंगी होंगी.

72% वाहन डीजल से

देश में यातायात के कुल वाहनों में से 72 प्रतिशत डीजल व 23 प्रतिशत पेट्रोल से चलते हैं. घरेलू रूप से भारत सिर्फ 18 प्रतिशत तेल का उत्पादन कर सकता है. बाकी हमें आयात करना पड़ता है.

बढ़ोतरी का दूसरा दौर
तेल कंपनियां 26 अगस्त से लगातार तेल की कीमतें बढ़ा रही हैं. इससे पहले 14 मई से 29 मई तक लगातार 16 दिन तक इजाफा हुआ था. उसके बाद अब ये फिर से नये रिकॉर्ड बना रहे हैं.

Advertisement

Comments

Advertisement