Advertisement

calcutta

  • Jul 16 2019 8:00AM
Advertisement

पश्‍चिम बंगाल : कांकीनाड़ा-भाटपाड़ा में फिर झड़प, बमबाजी, इलाके में आतंक, 20 लोकल ट्रेनें रद्द

पश्‍चिम बंगाल : कांकीनाड़ा-भाटपाड़ा में फिर झड़प, बमबाजी, इलाके में आतंक, 20 लोकल ट्रेनें रद्द

 -नगरपालिका कार्यालय और अस्पताल में तोड़फोड़, पुलिस ने किया लाठीचार्ज
कोलकाता :
उत्तर 24 परगना जिले के कांकीनाड़ा और भाटपाड़ा में कुछ दिनों की  शांति के बाद हिंसक झड़पें फिर शुरू हो गयी हैं. पिछले तीन दिनों से बमबाजी की घटनाओं के चलते पूरे इलाके में आतंक का माहौल बना हुआ है. सोमवार सुबह 10 बजे से अपराधियों ने कांकीनाड़ा और भाटपाड़ा के विभिन्न इलाकों में भीषण बमबाजी की. इससे कई लोगों के घायल होने की खबर है. घटना से गुस्साये लोगों ने भाटपाड़ा नगरपालिका व अस्पताल में घुसकर जमकर  कर हंगामा किया. हालात को देखते हुए मौके पर जगदल थाने की पुलिस को   अतिरिक्त बलों और रैफ का सहारा लेना पड़ा. उपद्रवियों को   नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा. 

स्थानीय सूत्रों के अनुसार,  रेल अवरोध समाप्त होने के तुरंत बाद ही   कांकीनाड़ा तीन,पांच और छह नंबर रेलवे  साइडिंग,घोषपाड़ा रोड, कांटापुकुर समेत विभिन्न इलाकों में  50 से भी ज्यादा बम बिस्फोट किये गये. पूरा इलाका बम व गोलियों  की आवाज से थर्रा गया.घटना के बाद से पूरे इलाके में पुलिस बम तैनात कर दिया गया है. 

मालूम हो कि रविवार को बमबाजी के बाद बैरकपुर पुलिस कमिश्नर मनोज वर्मा के नेतृत्व में रात भर इलाके में तलाशी अभियान चलाया गया.तलाशी के दौरान पुलिस को कांटापुकुर इलाके में 50 से भी ज्यादा जिंदा बम और बम बनाने का सामान मिला. पुलिस ने बमों को खाली स्थान पर ले जाकर निष्क्रिय कर दिया. गौरतलब है कि कांकीनाड़ा और भाटपाड़ा में गुरुवार से ही हिंसा का तांडव मचा हुआ है. स्थानीय लोगों का आरोप है कि पुलिस के सामने ही अपराधी बम चला रहे  हैं. पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं कर रही.

रेल अवरोध, 20 लोकल ट्रेनें रद्द

कांकीनाड़ा में सोमवार को दो गुटों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद स्थानीय लोगों ने कांकीनाड़ा स्टेशन पर रेल अवरोध कर दिया. दो घंटे से अधिक समय तक रेल अवरोध होने की वजह से बैरकपुर-नैहाटी डिवीजन में ट्रेन सेवा बुरी तरह प्रभावित हुई. कई ट्रेनों को रद्द करना पड़ा, जबकि कुछ ट्रेनें देर से चलीं. रेलवे के अनुसार, सुबह 9:05 से 11:15 बजे तक ट्रेन सेवाएं प्रभावित रहीं. अवरोध को देखते हुए कुल 16 इएमयू लोकल ट्रेनें देर से चलीं. इसके अलावा 20 इएमयू लोकल को रद्द करना पड़ा, जबकि तीन एक्सप्रेस ट्रेनों को बीच मार्ग पर ही रोकना पड़ा. सुबह के समय अवरोध होने से दैनिक यात्रियों को भारी परेशानी हुई. मालूम रहे कि लोकसभा चुनाव के बाद से कांकीनाड़ा और भाटपाड़ा में हिंसक झड़पों का दौर जारी है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement