1. home Hindi News
  2. national
  3. yoga guru baba ramdev statements covid 19 vaccination in india ima says nothing against ramdev consider withdrawing police plaints if yog guru takes back remarks smb 2

बाबा रामदेव के खिलाफ शिकायत वापस लेने के लिए आईएमए ने रखी शर्त, कहा- कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में सहयोग दें योग गुरु

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
योग गुरु बाबा रामदेव.
योग गुरु बाबा रामदेव.
फोटो : ट्विटर.

Yoga Guru Baba Ramdev Statements COVID 19 Vaccination IMA आधुनिक चिकित्सा के खिलाफ अपनी टिप्पणी को लेकर योग गुरु बाबा रामदेव इन दिनों लगातार सुर्खियों में बने हुए है. कोरोना महामारी के बीच आधुनिक चिकित्सा पद्धति और चिकित्सकों के खिलाफ बाबा रामदेव के कथित अपमानजनक टिप्पणी के बाद से योग गुरु और इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के बीच लगातार खींचतान जारी है. इन सबके बीच, चेन्नई इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (Indian Medical Association) के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ जे ए जयलाल ने शुक्रवार को कहा कि अगर योगगुरू रामदेव कोरोना वैक्सीनेशन तथा आधुनिक चिकित्सा के खिलाफ अपने बयान वापस ले लेते हैं, तो उनके खिलाफ दर्ज पुलिस शिकायतों तथा उन्हें भेजे गये मानहानि के नोटिस को वापस लेने पर विचार किया जाएगा.

अपने बयान पूरी तरह वापस लें योगगुरु

चेन्नई इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. जे ए जयलाल ने कहा कि कोरोना महामारी और इसके उपचार को लेकर आधुनिक चिकित्सा पद्धति पर निशाना साधकर रामदेव ने दरअसल सरकार पर सवाल खड़े किये. बाबा रामदेव के खिलाफ हमारे मन में कुछ नहीं है. उनके बयान कोविड-19 के लिए वैक्सीनेश के खिलाफ हैं. उन्होंने कहा कि उनके बयान लोगों को भ्रम में डाल सकते हैं और उन्हें भटका सकते हैं. जो चिंताजनक है, क्योंकि योगगुरु के अनेक अनुयायी हैं. बाबा रामदेव द्वारा आधुनिक चिकित्सा तथा कोरोना वायरस को लेकर बयान वापस लिये जाने के संदर्भ में उन्होंने कहा कि इसे पूरी तरह वापस लेना होगा.

नोटिस में उनसे 15 दिन के अंदर माफी मांगने को कहा गया

न्यूज एजेंसी पीटीआई भाषा डॉ. जे ए जयलाल से कहा कि अगर रामदेव ऐसे बयान पूरी तरह वापस लेते हैं, तो आईएमए उनके खिलाफ पुलिस में दर्ज शिकायतों को तथा उन्हें भेजे गये मानहानि के नोटिस को वापस लेने पर विचार करेगा. उल्लेखनीय है कि आईएमए ने कुछ दिन पहले बाबा रामदेव को आधुनिक चिकित्सा पद्धति और चिकित्सकों के खिलाफ कथित अपमानजनक बयान देने के लिए मानहानि का नोटिस भेजा था. नोटिस में उनसे पंद्रह दिन के अंदर माफी मांगने को कहा गया और ऐसा नहीं करने पर एक हजार करोड़ रुपये की क्षतिपूर्ति को लेकर कार्रवाई करने को कहा गया.

रामदेव के खिलाफ दिल्ली और अन्य जगहों पर दर्ज कराई गयी हैं शिकायतें

बाबा रामदेव के खिलाफ दिल्ली और अन्य जगहों पर दर्ज करायी गयी शिकायतों के जानकारी देते हुए आईएमए प्रमुख ने कहा कि संगठन ने पीएम मोदी से उनके खिलाफ कार्रवाई करने का भी अनुरोध किया है. जयलाल ने कहा कि योगगुरु को अपने अनुयायियों को सलाह देनी चाहिए कि टीका लगवाएं और महामारी के खिलाफ इस लड़ाई में सरकार को सहयोग दें. आईएमए प्रमुख ने कहा कि रामदेव को कोरोना वायरस के इलाज में इस्तेमाल कुछ दवाओं पर सवाल खड़ा करने वाले एक बयान को वापस लेना पड़ा था. विवाद बढ़ने पर योगगुरु बाबा रामदेव को यह भी कहते सुना गया कि उनका तो बाप भी गिरफ्तार नहीं कर सकता.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें