1. home Hindi News
  2. national
  3. yash storm update bihar jharkhand with these cities of these states will have the most impact pkj

बिहार- झारखंड सहित इन राज्यों के इन शहरों में यास तूफान का सबसे ज्यादा असर, कैसे निपटेगा प्रशासन ?

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
yash storm update
yash storm update
ANi

यास तूफान को लेकर देशभर के कई राज्यों में अलर्ट जारी किया गया है. इस तूफान का असर सिर्फ ओड़िशा और पश्चिम बंगाल पर नहीं बल्कि देश के कई प्रमुख राज्यों पर पड़ेगा. भारतीय मौसम विभाग ने जानकारी दी है कि चक्रवाती तूफान यास का असर बिहार, झारखंड, आंध्र प्रदेश और उत्‍तर-पश्चिमी भारत के मैदानी इलाकों पर पड़ेगा तूफान के आने से पहले ही कई राज्य के मुख्यमंत्रियों ने आपात बैठक की और तूफान से पहले तैयारियों को जायजा लिया है. आइये समझते हैं इस तूफान का किन राज्यों पर कितना पड़ेगा असर

तूफान से निपटने के लिए कितना तैयार बिहार 

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तूफान के आने से पहले ही इससे निपटने के लिए तैयारियों पर बल दिया उन्होने उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की और अधिकारियों से तूफान की तैयारियों के संबंध में सवाल जवाब किये.

उन्होंने अधिकारियों को आदेश दिया है कि 27 मई से 30 मई तक बारिश, आंधी- तूफान और वज्रपात को लेकर जिलाधिकारी अलर्ट रहें और तूफान से होने वाले नुकसान पर कड़ी नजर रखें. बिहार में मौसम विभाग ने भी अलर्ट जारी किया है. बंगाल से सटे कटिहार, किशनगंज, अररिया, पूर्णिया, भागलपुर, गया, नवादा, औरंगाबाद सहित कई इलाकों में तूफान का खतरा है.

राजधानी पटना के मौसम का मिजाज बदलने लगा है हल्की - हल्की बारिश हो रही है. डीएम ने जिले में अलर्ट जारी कर दिया है. डीएम ने लोगों से घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की है. एनडीआरएफ के 350 जवान और विशेषज्ञों को तैयार रखा गया है. पटना एयरपोर्ट से उड़ने वाले 21 जोड़ी विमानों को अगले तीन दिनों के लिए कैंसिल कर दिया गया है.

झारखंड के इन जिलों में तूफान का सबसे ज्यादा खतरा

झारखंड भी तूफान को लेकर अलर्ट है. पश्चिम बंगाल से सटे जिलों को भी अलर्ट जारी किया गया है. : बंगाल की खाड़ी से उठा चक्रवात 'यास' का असर राज्य के कई जिलों में है. कई जगहों पर हल्की - हल्की बारिश हो रही है. राजधानी रांची में पिछले 15 घंटों से लगातार बारिश हो रही है.

आपात स्थिति के लिए राजधानी रांची में NDRF की दो टीमें हाई अलर्ट पर है. चाईबासा, सरायकेला समेत राजधानी रांची में बारिश हो रही है. सभी जिले अलर्ट मोड पर हैं. हेल्पलाइन नंबर जारी किये गये हैं, कांग्रेस नेता डॉ अजय कुमार ने ट्वीट किया है कि चक्रवाती तूफान यास को देखते हुए सभी जमशेदपुरवासियों से अनुरोध है कि 25, 26 और 27 मई को अनावश्यक घरों से बाहर न निकलें.

इस दौरान निर्देशों का पालन जरूर करें.ज्य के पांच जिले पूर्वी सिंहभूम, पश्चिम सिंहभूम, सिमडेगा, खूंटी व बोकारो पर चक्रवाती तूफान यास का प्रभाव ज्यादा रहेगा. राज्य सरकार वैसी जगहों पर ज्यादा सतर्क है जहां यास का प्रभाव ज्यादा पड़ने की संभावना है.

यूपी के कई शहरों में बारिश,  अलर्ट पर प्रशासन 

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बारिश हो रही है. यास तूफान को लेकर प्रशासन एक्टिव मोड में है. मौसम विभाग की ओर से उत्‍तर प्रदेश के भी करीब 27 जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया है.

मौसम विभाग ने बताया है कि 28 मई को पूर्वी उत्तर प्रदेश में तेज आंधी के साथ हल्की बारिश होने की संभावना है. 28 मई को पूर्वी उत्तर प्रदेश में तूफान का असर दिखेगा खासकर वाराणसी के आसपास के जिलो में.

इसके साथ ही प्रयागराज, गोरखपुर और राजधानी लखनऊ में भी यास अपनी धमक दिखायेगा. जिन जगहों पर बारिश का अलर्ट जारी किया गया है उनमें 27 जिले शामिल हैं जिनमें मुख्य रूप से आजमगढ़, मऊ, गाजीपुर, बलिया, देवरिया, संत कबीर नगर, महराजगंज सहित कई जिले शामिल हैं.

प्रशासन ने इस तूफान के मद्देनजर अलर्ट जारी किया है. नागरिकों को और ज्यादा सुरक्षित रहने और घर से बाहर ना निकलने के लिए कहा गया है. बस्ती मण्डल के तीन जिलो बस्ती,सिद्वार्थनगर तथा संतकबीरनगर को भी अलर्ट पर रहने का आदेश दिया गया है.

पश्चिम बंगाल में दो की मौत, कई जगहों से आ रही नुकसान की खबर 

पश्चिम बंगाल में इस तूफान का असर सबसे ज्यादा होने का अनुमान लगाया गया है. राज्य सरकार ने इस तूफान से निपटने के लिए कड़ी तैयारियां की है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एक्शन मोड में हैं और संबंधित विभाग के साथ मिलकर खुद काम कर रही हैं.

राज्य के कम से कम 20 जिले इस तूफान से सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे उत्तर और दक्षिण 24 परगना तथा पूर्व मेदिनीपुर जिले गंभीर रूप से प्रभावित हो सकते हैं. तूफान का असर कई जगहों पर दिखने भी लगा है जिनमें उत्तर 24 परगना जिला के हालीशहर में मंगलवार को आये बवंडर ने काफी तबाही मचायी. पेड़ टूटकर गिर गये हैं. कोलकाता एयरपोर्ट को बंद कर दिया गया है. बंगाल में तूफान का असर दिखने लगा है. कई जगहों से नुकसान की खबर आने लगी है.

कहीं किसी के घर पर इस तूफान का असर पड़ा है तो कई जगहों पर तूफान ने पेड़ गिराकर, रास्ता बंद करके तबाही मचाना शुरू कर दिया है. 11.5 लाख लोगों को तूफान के खतरे को देखते हुए बाहर निकाला गया है. हालिशहर में 40 मकानों को नुकसान पहुंचा है. जबकि पांडुआ में बिजली गिरने से दो लोगों को मौत की खबर आ रही है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें