28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

लंदन कॉलेज विवाद पर मनोहर लाल खट्टर की प्रतिक्रिया पर बवाल, ओवैसी ने पूछा- आतंकवादी कौन ?

भिवानी की जघन्य हत्याओं में आठ संदिग्धों ने दो मुस्लिम पुरुषों को पीट-पीट कर मार डाला. इसके बाद एक कार के अंदर उनका जला हुआ शव बरामद किया गया. संदिग्ध अभी भी फरार हैं.

ऑल इंडिया मजिलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने आज हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर पर भिवानी हत्याकांडों में वांछित प्रगति की कमी को लेकर हमला करते हुए कहा कि- भाजपा नेता विदेश में एक कॉलेज में लड़के के चुनाव को लेकर ज्यादा चिंतित हैं. बता दें गुरुग्राम के रहने वाले भारतीय छात्र करण कटारिया ने लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में अयोग्य ठहराए जाने के बाद भेदभाव का आरोप लगाया, जिसे वह निराधार आरोप कहते हैं. कटारिया को चुनाव नियमों के कथित उल्लंघन को लेकर लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक स्टूडेंट यूनियन (LSESU) के जनरल सेक्रेटरी के लिए दौड़ने से अयोग्य घोषित कर दिया गया था, लेकिन भारतीय छात्र ने एक कथित बदनामी अभियान पर अपनी अयोग्यता का आरोप लगाते हुए उन्हें इस्लामोफोबिक, ट्रांसफोबिक और नस्लवादी करार दिया था.

हर संभव मदद का दिया आश्वासन

खट्टर ने घटना की निंदा की और घटना की जांच और कटारिया की सुरक्षा के संबंध में यूके में भारतीय हाई कमीशन को लिखा. लिखते हुए उन्होंने कहा- मैंने घटना की निंदा की है, वहां के हाई कमीशन को घटना की जांच और करण कटारिया की सुरक्षा के संबंध में भी लिखा है. उन्होंने जवाब दिया है और आश्वासन दिया है कि वे ऐसा नहीं होने देंगे और इस पर गौर करेंगे. मैं उनसे मिला. खट्टर ने आगे बताया- मैंने उसके परिवार से मुलाकात की है और हर तरफ से हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया है.

Also Read: हिमंत बिस्वा सरमा ने राहुल गांधी को कोर्ट में देख लेने की धमकी दी, अदाणी वाले ट्वीट पर बवाल
ओवैसी ने साधा निशाना

कटारिया केस में खट्टर की मुस्तैदी पर निशाना साधते हुए जबकि, भिवानी हत्याकांड के 8 आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त में नहीं आये हैं और फरार हैं. ओवैसी ने एक ट्वीट शेयर किया. इस ट्वीट में उन्होंने लिखा- हरियाणा के मुख्यमंत्री को लंदन के कॉलेज में एक छात्र के इलेक्शन को लेकर ज्यादा चिंता है. जबकि, उनके राज्य में जुनैद और नासिर को जिन्दा जला दिया गया है. आगे बताते हुए उन्होंने कहा- ऐसा करने वाले आतंकवादियों को राज्य का संरक्षण प्राप्त था और इस मामले में केवल एक आरोपी को ही गिरफ्तार किया गया है.


आखिर क्यों हो रहा है बवाल

हरियाणा में दो मुस्लिम समुदाय के युवकों की कथित तौर पर गौ रक्षकों द्वारा पीट-पीटकर हत्या कर दी गयी थी. इन दोनों मृतकों की पहचान जुनैद (37) और नासिर (27) के रूप में हुई थी. बाद में इन दोनों की लाश को एक कार के अंदर से बरामद किया गया था. मारे गए दोनों ही युवकों ने इसके लिए बजरंग दल के मेंबर्स को जिम्मेदार बताया जिसकी वजह से एक आक्रोश और एक राजनीतिक झगड़ा खड़ा हो गया.

जुनैद और नासिर को 15 फरवरी को धमकाया गया

एक आरोपी रिंकू सैनी को पिछले महीने गिरफ्तार किया गया था. जबकि, आठ अन्य अभी भी फरार हैं. 8 फरार संदिग्धों में मोहित यादव या मोनू मानेसर शामिल नहीं हैं, जो हरियाणा के मानेसर जिले में बजरंग दल के नेता हैं, जिन्हें मूल रूप से प्रथम सूचना रिपोर्ट में नामित किया गया था. जांचकर्ताओं ने कहा कि जुनैद और नासिर को 15 फरवरी को धमकाया गया, अगवा किया गया और उन पर हमला किया गया. उन्हें हरियाणा के फिरोजपुर झिरका में कम से कम दो पुलिस स्टेशनों में ले जाया गया, लेकिन उन्हें लौटा दिया गया.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें