1. home Hindi News
  2. national
  3. union health minister harsh vardhan asked yoga guru baba ramdev to apologise corona warriors and country on his statement rjh

माफी मांगें बाबा रामदेव, आपके बयान से कोरोना वाॅरियर्स का अपमान हुआ और भावनाओं को ठेस पहुंची, डाॅ हर्षवर्धन ने पत्र लिखकर गुरू को लगायी फटकार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Baba Ramdev
Baba Ramdev
Twitter

स्वास्थ्य मंत्री डाॅ हर्षवर्धन ने आज योग गुरू बाबा रामदेव को पत्र लिखकर उनसे यह कहा है कि वे अपनी उन आपत्तिजनक टिप्पणियों के लिए माफी मांगे जिनसे देश के कोरोना वाॅरियर्स का अपमान हुआ है और पूरा देश आहत है.

स्वास्थ्य मंत्री ने अपने पत्र में उनसे कहा है कि उनके वक्तव्य से कोरोना वाॅरियर्स का अपमान हुआ है और उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है. इसलिए वे अपने बयान के लिए माफी मांगे. डाॅ हर्षवर्धन ने अपने पत्र में योगगुरू से कहा है कि वैसे समय में जब एलोपैथी के डाॅक्टर अपनी जान की बाजी लगाकर कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे हैं और उनके प्रयासों से देश में मृत्युदर मात्र 1.13 प्रतिशत और रिकवरी रेट 88 प्रतिशत है उनकी सेवा का अपमान करना दुर्भाग्यपूर्ण है.

डाॅ हर्षवर्धन ने पत्र में लिखा है कि ऐसे समय में जब एलोपैथी के डाॅक्टर और तमाम नर्सें और अन्य स्वास्थ्यकर्मी दिन-रात सेवा में जुटे हैं आपका यह कहना है कि देश में लाखों लोगों की मौत एलोपैथी दवा खाने से हुई है घोर आपत्तिजनक है. कोरोना महामारी पर विजय सामूहिक प्रयासों से ही संभव है और आप भी इस बात से भलीभांति परिचित हैं कि ड्‌यूटी करते हुए अपने देश के ही नहीं बल्कि विदेशों में भी कई डाॅक्टर और स्वास्थ्य कर्मी अपनी जान गंवा चुके हैं. ऐसे में आपका बयान दुर्भाग्यपूर्ण है.

डाॅ हर्षवर्धन ने कहा कि इस संकट की स्थिति में आपका यह कहना कि एलोपैथी तमाशा, बेकार और दिवालिया है बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है. आज जो आंकड़ें देश के समाने हैं उससे यह साफ है कि एलोपैथी की चिकित्सा की वजह से ही देश में इतने मरीज स्वस्थ हुए हैं और रिकवरी रेट 88 प्रतिशत है.

डाॅ हर्षवर्धन ने कहा कि आप सार्वजनिक जीवन में रहने वाले हैं आपके बयान का काफी महत्व है, इसलिए मैं समझता हूं आपको बयान सोच-समझकर और स्थिति-परिस्थिति को देखकर देना चाहिए. आपका बयान एलोपैथी की डाॅक्टरों और उनकी पूरी चिकित्सा प्रणली पर सवालिया निशान खड़े करता है, जो अनुचित है. आपका बयान डाॅक्टरों का मनोबल तोड़ने वाला और कोरोना के खि़लाफ लड़ाई को कमजोर करने वाला है.

आपने अपने बयान पर जो स्पष्टीकरण दिया वह आपके द्वारा दिये बयान के मद्देनजर नाकाफी है. आपके कहा कि आपका बयान माॅडर्न साइंस और अच्छे डाॅक्टरों के खिलाफ नहीं है. आपको यह पता होना चाहिए कि विश्व से चेचक, पोलियो, सार्स और टीबी जैसी बीमारियों का इलाज एलोपैथी ने ही संभव किया है. इसलिए आप विषय की गंभीरता को समझें और अपना बयान पूरी तरह वापस लें.

Posted By : Rajneesh Anand

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें