1. home Home
  2. national
  3. terror attack in jammu and kashmir street hawker shot dead by terrorists near madin sahib in hawal on the outskirts of srinagar city smb

जम्मू-कश्मीर: आतंकी हमले में तीन की मौत, उपराज्यपाल ने कहा- अपने मंसूबों में कभी कामयाब नहीं होंगे आतंकवादी

Jammu And Kashmir में मंगलवार को श्रीनगर व बांदीपोरा में आतंकवादियों ने 3 हमलों को अंजाम दिया है. पहला हमला कश्मीर के जाने-माने फार्मेसी कारोबारी पर हुआ. इसके बाद श्रीनगर के मदीन साहिब में एक स्ट्रीट हॉकर पर आतंकियों ने गोलियां बरसा दीं. फिर बांदीपुरा में एक आम नागरिक की गोली मारकर हत्या कर दी गई.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Terror attack in J&K
Terror attack in J&K
Twitter

Jammu And Kashmir जम्मू-कश्मीर में मंगलवार को श्रीनगर और बांदीपोरा में आतंकवादियों ने तीन हमलों को अंजाम दिया है. पहला हमला कश्मीर के जाने-माने फार्मेसी कारोबारी पर हुआ. इसके बाद श्रीनगर के मदीन साहिब में एक स्ट्रीट हॉकर पर आतंकियों ने गोलियां बरसा दीं. फिर बांदीपुरा जिले में एक आम नागरिक की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और संबंधित क्षेत्रों की घेराबंदी कर दी गई है. साथ ही इन क्षेत्रों में तलाशी जारी है.

श्रीनगर और बांदीपोरा में आतंकवादियों द्वारा तीन नागरिकों की हत्या किए जाने की कड़ी निंदा करते हुए जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि आतंकी अपने नापाक मंसूबों में कभी कामयाब नहीं होंगे और इस तरह के जघन्य कृत्यों के लिए जिम्मेदार लोगों को न्याय के दायरे में लाया जाएगा. इससे पहले न्यूज एजेंसी एएनआई रिपोर्ट के मुताबिक, आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने बताया कि श्रीनगर शहर के बाहरी इलाके हवल में मदीन साहिब के पास आतंकवादियों ने स्ट्रीट हॉकर की गोली मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई.

वहीं, इससे पूर्व श्रीनगर में संदिग्ध आतंकवादियों ने इकबाल पार्क क्षेत्र में प्रसिद्ध फार्मेसी के मालिक माखनलाल बिंदरू की उनके व्यवसायकि परिसर में गोली मारकर हत्या कर दी. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने बताया कि हमलावरों ने माखनलाल बिंदरू को उस समय नजदीक से गोली मार दी, जब वह अपनी फार्मेसी में थे. उन्होंने कहा कि बिंदरू को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर दी है और आतंकवादियों को पकड़ने के लिए तलाशी जारी है. कश्मीरी पंडित समुदाय से बिंदरू उन कुछ लोगों में शामिल थे जिन्होंने 1990 के दशक में जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद शुरू होने के बाद पलायन नहीं किया. वह अपनी पत्नी के साथ यहीं रहे और लगातार अपनी फार्मेसी बिंदरू मेडिकेट को चलाते रहे.

बता दें कि पिछले कुछ महीनों में घाटी में कश्मीरी पंडितों पर आतंकियों ने हमले तेज कर दिए हैं. बिंदरू से पहले भी आतंकी कश्मीरी पंडितों को निशाना बना चुके हैं. बीते दिनों कुलगाम जिले के वनपुह गांव में आतंकियों की कश्मीरी पंडित बंटू शर्मा को मौत के घाट उतार दिया था. आतंकियों ने बंटू शर्मा को करीब से गोली मारी थी. घटना के बाद पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी गई है. आतंकियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान चलाया जा रहा है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें