1. home Hindi News
  2. national
  3. sonia gandhi attack on the modi government farmers bill gandhi jayanti video message prt

'किसानों को खून के आंसू रुला रही मोदी सरकार',केन्द्र सरकार पर सोनिया का वार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
केन्द्र सरकार पर सोनिया का वार
केन्द्र सरकार पर सोनिया का वार
File photo

गांधी जयंती के मौके पर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने केन्द्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने वीडियो संदेश जारी कर किसानों की मांग को जायज ठहराया है और मोदी सरकार पर निशाना साधा है. सोनिया गांधी ने अपने वीडियो संदेश में कहा "आज किसानों, मज़दूरों के सबसे बड़े हमदर्द महात्मा गांधी की जयंती है, गांधी जी कहते थे कि भारत की आत्मा भारत के गांव, खेत और खलिहान में बसती है. आज 'जय-जवान, जय किसान' का नारा देने वाले पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की भी जयंती है.

वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि आज देश के किसान और खेत मज़दूर कृषि विरोधी तीन काले कानूनों के खिलाफ सड़कों पर आंदोलन कर रहे हैं. अपना खून-पसीना देकर अनाज उगाने वाले अन्नदाता किसान को मोदी सरकार खून के आंसू रूला रही है.

सोनिया गांधी ने केन्द्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि कोरोना महामारी के दौरान कांग्रेस ने सरकार से जरूरतमंदों के लिए मुफ्त अनाज का मांग रखी थी. लेकिन सरकार ने ठीक काम नहीं किया. उन्होंने कहा कि आज पीएम मोदी किसानों के साथ नाइंसाफी कर रहे हैं. किसानों के लिए जो कानून बनाए गये उनमें किसानों से सलाह नहीं ली गई.

सरकार ने किसानों की बात नहीं सुनी, इसलिए किसान सड़क पर उतरने के लिए मजबूर हो गये है. लेकिन सरकार ने आवाज उठा रहे किसानों पर लाठियां चलवाई. उन्होंने कहा कि हम इन तीन काले कानूनों के खिलाफ आंदोलन करते रहेंगे.

राहुल गांधी कृषि कानूनों के विरोध में करेंगे ट्रैक्टर रैली

कांग्रेस नेता राहुल गांधी केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ तीन से पांच अक्टूबर तक पंजाब और हरियाणा में ट्रैक्टर रैलियां करेंगे. किसान विरोधी कानूनों के खिलाफ आवाज उठाने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, कांग्रेस महासचिव एवं पार्टी के पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश रावत, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़, राज्य के सभी मंत्री एवं कांग्रेस विधायक प्रदर्शनों में शामिल होंगे. पंजाब कांग्रेस के प्रवक्ता के अनुसार ट्रैक्टर रैलियों को किसान संगठनों का समर्थन मिलने की उम्मीद है. रैलियों में तीन दिन में 50 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय की जाएगी.

Posted by : Pritish sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें