1. home Home
  2. national
  3. satyapal malik controversy owaisi comment said pm modi only wants to hear his praise rts

सत्यपाल मलिक विवाद पर ओवैसी की टिप्पणी, कहा- पीएम मोदी सिर्फ अपनी तारीफ सुनना चाहते हैं

मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर आलोचना की है . उन्होंने किसान आंदोलन के दौरान मारे गए लोगों का जिक्र पर दिए पीएम मोदी की प्रतिक्रिया पर नाराजगी जातई है. वहीं, इस विवाद में असदुद्दीन ओवैसी ने भी टिप्पणी करते हुए पीएम को निशाने पर लिया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
तेलंगाना में पत्रकारों से बात करते असदुद्दीन ओवैसी
तेलंगाना में पत्रकारों से बात करते असदुद्दीन ओवैसी
ANI

Asaduddin Owaisi statement on PM: मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) ने कृषि कानूनों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाने पर लिया है. उन्होंने हरियाणा के दादरी में किसानों के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी पर जमकर हमला किया. कृषि कानूनों पर किए सवाल का जिक्र करते हुए उन्होंने मोदी को घमंडी तक बता दिया. वहीं, इस विवाद पर AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने भी टिप्पणी की है. ओवैसी ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि उन्हें सिर्फ अपनी तारीफ सुनना पसंद है.

असदुद्दीन ओवैसी ने तेलंगाना में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक से मुलाकात के दौरान पीएम मोदी नाराज हो गए क्योंकि मलिक ने कृषि कानूनों के कारण 500 से अधिक किसानों की मौत की बात कही. यह साबित करता है कि पीएम राज्यपाल से भी सच्चाई नहीं सुनना चाहते, जनता की तो बात ही छोड़िए. वह सिर्फ प्रशंसा चाहते हैं.

क्या है पूरा मामला: खबरों की मानें तो दादरी में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि मैं जब किसानों के मामले में पीएम मोदी से मिलने गया तो उनसे मेरी 5 मिनट के बातचीत में लड़ाई हो गई. वो बहुत घमंड में थे. जब मैंने पीएम से कहा कि किसान आंदोलन के दौरान 500 लोग मारे गए तो उन्होंने कहा कि मेरे लिए मरे हैं क्या. मलिक ने इसका जवाब देते हुए कहा कि आपके लिए ही तो मरे थे जो आप राजा बने हुए हो. जिसके बाद पीएम मोदी ने उन्हें अमित शाह से मिलने की सलाह दी. मलिक ने कहा कि वह अपनी ईमानदारी के बदौलत प्रधानमंत्री से पंगा लिया है.

आपको बता दें कि यह पहली बार नहीं है मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक काफी बार किसानों को मुद्दे पर सरकार को घेरते रहे हैं. उन्होंने कई बार सरकार की आलोचना भी की है. हालांकि जब कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान हुआ था तो उन्होंने प्रधानमंत्री की जमकर प्रशंसा भी की थी. पीएम के फैसले पर कहा था कि देर आए, दुरुस्त आए.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें