1. home Hindi News
  2. national
  3. prime minister narendra modi bjp president jp nadda home minister amit shah interact with uttarakhand mps discuss relief efforts and future course of action over uttarakhand glacier disaster smb

Uttarakhand Glacier Burst : पीएम मोदी, अमित शाह और जेपी नड्डा से उत्‍तराखंड के सांसदों ने की मुलाकात, राहत प्रयासों पर हुई चर्चा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
PM Modi Interact With Uttarakhand MPs, Discuss Relief Efforts in  Uttarakhand.
PM Modi Interact With Uttarakhand MPs, Discuss Relief Efforts in Uttarakhand.
ANI PIC

Uttarakhand Glacier Burst Latest News Update उत्तराखंड के चमोली जिले में रविवार को अचानक आई आपदा से भयंकर तबाही मची है. सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उत्तराखंड के सांसदों के साथ बातचीत की. इस दौरान उत्तराखंड ग्लेशियर आपदा पर राहत प्रयासों पर चर्चा हुई.

वहीं, समाचार एजेंसी भाषा के अनुसार, उत्तराखंड के चमोली जिले में बाढ से प्रभावित क्षेत्र में बचाव और राहत अभियान में सोमवार को तेजी आयी. उत्तराखंड राज्य आपदा परिचालन केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार, आपदा में अब तक 202 लोगों के लापता होने की सूचना है, जबकि 18 के शव बरामद हो चुके हैं. अधिकारियों ने बताया कि लापता लोगों में पनबिजली परियोजनाओं में कार्यरत लोगों के अलावा आसपास के गांवों के स्थानीय लोग भी है जिनके घर बाढ के पानी में बह गए.

आपदा प्रभावित क्षेत्र तपोवन क्षेत्र में बिजली परियोजना की छोटी सुरंग से 12 लोगों को कल रविवार को बाहर निकाल लिया गया था, जबकि 250 मीटर लंबी दूसरी सुरंग में फंसे 35 लोगों को बाहर निकालने के लिए अभियान जारी है. बचाव और राहत अभियान में बुलडोजर, जेसीबी आदि भारी मशीनों के अलावा रस्सियों और स्निफर कुत्तों का भी उपयोग किया जा रहा है.

इससे पहले रविवार को मुख्यमंत्री रावत ने आपदा प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया था और सोमवार को वह फिर तपोवन क्षेत्र के लिए रवाना हो गए. उन्होंने कहा कि क्षेत्र में राहत और बचाव कार्य तेजी से चल रहे हैं और सरकार इसमें कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है. उन्होंने इस हादसे को विकास के खिलाफ दुष्प्रचार का कारण नहीं बनाने का भी लोगों से अनुरोध किया. बाढ आने का कारण तत्काल पता नहीं चल पाया है, लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि हिमखंड टूटने से नदी में बाढ आ गई.

Upload By Samir Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें