1. home Hindi News
  2. national
  3. pm narendra modi made five fold strategy to fight corona make big decisions with emphasis on vaccination rjh

कोरोना से जंग के लिए पीएम मोदी ने फाइव फोल्ड स्ट्रेटजी बनायी, वैक्सीनेशन पर जोर सहित लिये ये बड़े फैसले

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
PM Modi
PM Modi
Twitter
  • छह से 14 अप्रैल तक चलेगा जागरूकता अभियान

  • जनांदोलन और जनभागीदारी पर जोर

  • सही व्यवहार और वैक्सीनेशन जरूरी

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों पर नकेल कसने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज फाइव फोल्ड स्ट्रेटजी की घोषणा की है. पीएमओ द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज की बैठक में पांच स्तरीय रणनीति पर जोर दिया.

प्रधानमंत्री ने बैठक में कहा कि देश में कोरोना की दूसरी लहर को रोकने के लिए सबसे जरूरी है कि वैक्सीनेशन को तेजी से बढ़ाया जाये, साथ ही कोरोना के तमाम प्रोटोकाॅल का पालन गंभीरता के साथ किया जाये.

उन्होंने बैठक में कहा कि कोरोना को रोकने के जागरूकता की जरूरत है, साथ ही जनांदोलन और जनभागीदारी के जरिये कोरोना को रोका जा सकता है.

पांच स्तरीय रणनीति पर जोर

संकमण को फैलने से रोकने के लिए उन्होंने टेस्टिंग (जांच), ट्रेसिंग (संपर्कों का पता लगाना), ट्रीटमेंट (उपचार करना), कोविड बचाव संबंधी सावधानियों और टीकाकरण की पांच स्तरीय रणनीति को बेहद गंभीरता तथा प्रतिबद्धता के साथ अपनाने पर जोर दिया. इस समीक्षा बैठक में एक प्रस्तुति भी दी गई, जिसके मुताबिक देश में कुल संक्रमित मामलों में 91 प्रतिशत से अधिक की हिस्सेदारी 10 राज्यों की है और इन्हीं राज्यों में कोविड-19 से सर्वाधिक मौतें भी हुई हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि कई राज्यों में कोरोना के नये स्ट्रेन की सूचना भी है, लेकिन इनसब पर भी लगाम कोरोना के खिलाफ सही व्यवहार और वैक्सीनेशन से लगाम कसी जा सकती है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि 6 अप्रैल से 14 अप्रैल तक मास्क और सही सैनिटाइजेशन के लिए जागरूकता अभियान चलाया जायेगा. इसका उद्देश्य सार्वजनिक स्थलों और वर्कप्लेस पर सही व्यवहार सुनिश्चित करना है.

महाराष्ट्र सहित इन राज्यों में भेजे जायेंगे स्वास्थ्य विशेषज्ञ

बैठक में महाराष्ट्र, पंजाब और छत्तीसगढ़ के हालात पर चिंता जताई गई और इसके मद्देनजर प्रधानमंत्री ने इन राज्यों में जन स्वास्थ्य विशेषज्ञों तथा चिकित्सकों की केंद्रीय टीम भेजने का निर्देश दिया. महाराष्ट्र में अकेले देश में कोविड-19 के कुल मामलों के 57 प्रतिशत मामले हैं और राज्य में दैनिक नए मामलों का आंकड़ा 47,913 तक पहुंच गया है. महाराष्ट्र में इससे पहले जब कोरोना वायरस महामारी चरम पर थी, उसके मुकाबले यह आंकड़ा दोगुने से भी अधिक है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में कोरोना की उपलब्धता सुनिश्चित करना और वसुधैव कुटुंबकम्‌ की विचारधारा को पुष्ट करने के लिए हम दूसरे देशों में भी वैक्सीन भेजेंगे.

देश में कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए प्रधानमंत्री ने आज उच्चस्तरीय बैठक का आयोजन किया था. इस बैठक में सभी उच्च अधिकारी शामिल हुए थे. बैठक में कैबिनेट सेक्रेटरी, प्रिंसिपल सेक्रेटरी सहित कई उच्चाधिकारी मौजूद थे.

Posted By : Rajneesh Anand

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें