1. home Home
  2. national
  3. pdp president mehbooba mufti says nia raid on jamaat e islami is wrong decision of modi government rjh

जमात-ए-इस्लामी पर NIA की रेड करवाकर मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर के खिलाफ युद्ध छेड़ दिया, महबूबा मुफ्ती का आरोप

महबूबा मुफ्ती ( Mehbooba Mufti) ने ट्‌वीट किया कि जमात (Jamaat-e-Islami ) पर एनआईए (NIA) की छापेमारी जम्मू-कश्मीर के खिलाफ युद्ध छेड़ने का प्रतीक है. सरकार विचारधारा की लड़ाई नहीं लड़ रही है बल्कि वह विपरीत विचारों को कुचलने की कोशिश में है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Mehbooba Mufti
Mehbooba Mufti
Twittter
  • महबूबा मुफ्ती का आरोप केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर के खिलाफ युद्ध छेड़ दिया

  • जमात ए इस्लामी पर रेड मोदी सरकार का आत्मघाती फैसला

  • महबूबा आर्टिकल 370 को हटाये जाने का करती रहीं है विरोध

पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती (PDP President Mehbooba Mufti) ने केंद्र सरकार पर सीधा हमला बोला है और आरोप लगाया है कि केंद्र ने जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के खिलाफ युद्ध छेड़ दिया है. महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जमात-ए-इस्लामी (Jamaat-e-Islami) पर एनआईए (NIA) की रेड सरकार का आत्मघाती फैसला था, जिसे महबूबा मुफ्ती ने सेल्फ गोल करार दिया है. महबूबा ने कहा कि बावजूद इसके एनआईए ने सोमवार को यानी दूसरे दिन भी रेड जारी रखी.

महबूबा मुफ्ती ने ट्‌वीट किया कि जमात पर एनआईए की छापेमारी जम्मू-कश्मीर के खिलाफ युद्ध छेड़ने का प्रतीक है. सरकार विचारधारा की लड़ाई नहीं लड़ रही है बल्कि वह विपरीत विचारों को कुचलने की कोशिश में है.

महबूबा ने कहा कि इस तरह की कुचलने वाली नीति कुछ देर के लिए अच्छा परिणाम दे सकती है, लेकिन इस तरह की कार्रवाइयों के दूरगामी परिणाम बहुत ही घातक होते हैं. इस तरह की कार्रवाइयों से जम्मू-कश्मीर और देश के अन्य क्षेत्रों के बीच गहरी खाई बनती जा रही है.

NIA ने रविवार से शुरू की थी छापेमारी

गौरतलब है कि एनआईए ने सीआरपीएफ के साथ मिलकर जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा में पांच स्थानों पर छापेमारी की थी. आज की रेड में जमात ए इस्लामी के सदस्यों के आवास और परिसर शामिल थे. एनआईए की ओर से बताया गया है कि तलाशी के दौरान आपत्तिजनक दस्तावेज और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बरामद किये गये हैं.

पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाये जाने के बाद से मोदी सरकार के खिलाफ बयानबाजी कर रही हैं. पांच अगस्त को आर्टिकल 370 हटाये जाने की दूसरी बरसी पर महबूबा मुफ्ती ने विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया था और कहा था कि कश्मीरी दुखी हैं और मोदी सरकार जश्न मना रही है. कश्मीरियों को अपने राज्य का पुराना दर्जा वापस चाहिए.

Posted By : Rajneesh Anand

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें