1. home Home
  2. national
  3. now indian power will also increase in sea agreement with america for purchase of torpedoes amh

अब समुद्र में भी बढ़ेगी भारत की धाक, जल्द तारपीडो होगा अपने पास, अमेरिका के साथ हुआ समझौता

रक्षा मंत्रालय ने भारतीय नौसेना के पनडुब्बी रोधी युद्धक विमान पी-8आई के लिए 423 करोड़ रुपये की लागत से एमके 54 तारपीडो और चाफ तथा फ्लेयर्स जैसे एक्सपेंडेबल खरीदने के लिए अमेरिका की सरकार के साथ करार किया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
torpedoes /india us
torpedoes /india us
twitter

भारतीय रक्षा मंत्रालय की ओर से अमेरिका सरकार के साथ नौसेना के लिए रक्षा उपकरणों की खरीद के लिए 423 करोड़ रुपये के एक समझौते पर हस्ताक्षर करने का काम किया गया है. इस समझौते की बात करें तो इसके तहत नौसेना के लिए एमके 54 तारपीडो एवं अन्य उपकरणों की खरीद की जाएगी.

रक्षा मंत्रालय ने भारतीय नौसेना के पनडुब्बी रोधी युद्धक विमान पी-8आई के लिए 423 करोड़ रुपये की लागत से एमके 54 तारपीडो और चाफ तथा फ्लेयर्स जैसे एक्सपेंडेबल खरीदने के लिए अमेरिका की सरकार के साथ करार किया है. मंत्रालय के प्रवक्ता की ओर से इसकी जानकारी दी गई है.

भारतीय नौसेना के बेड़े में कुल 11 पी-8आई विमान हैं जिनका उत्पादन अमेरिकी वैमानिकी कंपनी बोइंग ने किया है. पी-8आई विमान को इसकी पनडुब्बी रोधी युद्धक क्षमताओं के साथ ही आधुनिक समुद्री टोही क्षमताओं के लिए भी जाना जाता है. रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्विटर पर लिखा कि रक्षा मंत्रालय ने भारतीय नौसेना के लिए 423 करोड़ रुपये की लागत पर एमके 54 तारपीडो और एक्सपेंडेबल (चाफ तथा फ्लेयर्स) की खरीद के लिए विदेश सैन्य बिक्री (एफएमएस) के तहत अमेरिका की सरकार के साथ करार पर हस्ताक्षर किये हैं.

रक्षा मंत्रालय ने कहा कि ये उपकरण पी-8आई विमान के साजो-सामान हैं.

भाषा इनपुट के साथ

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें