1. home Hindi News
  2. national
  3. kerala pregnant elephant death ngo wildlife sos announces rs 1 lakh for info on elephant hathin killers

गर्भवती हथिनी की मौत पर देश भर में आक्रोश, NGO ने कहा, हत्यारों को पकड़ो तो देंगे 1 लाख रुपए का इनाम

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
घायल हथिनी इतने दर्द में थी कि तीन दिनों तक वह कुछ खा-पी नहीं पाई और लगातार पानी में खड़ी रही.
घायल हथिनी इतने दर्द में थी कि तीन दिनों तक वह कुछ खा-पी नहीं पाई और लगातार पानी में खड़ी रही.
Twitter

केरल के मल्लपुरम में खाने की तलाश में इंसानी आबादी में पहुंची गर्भवती हथिनी को कुछ लोगों ने पटाखों से भरा अनानास दे दिया. अनानास हथिनी के मुंह में फट गया और तीन बाद उसकी मौत हो गयी. घायल हथिनी इतने दर्द में थी कि तीन दिनों तक वह कुछ खा-पी नहीं पाई और लगातार पानी में खड़ी रही.

इस घटना के लोकर पूरे देश में गुस्सा है. सोशल मीडिया पर लगातार आरोपियों के कड़ी सजा देने की मांग हो रही है. एक एनजीओ ने हत्यारों की सूचना देने पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया है.बता दें कि हथिनी की हत्या मामले की जांच केरल के स्टेट फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के लोग कर रहे हैं. मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गयी है.इस घटना के एक हफ्ते बाद भी अभी कोई पकड़ में नहीं आया है.

जंगली हथिनी साइलेंट वैली के जंगल से भोजन की तलाश में पास के गांव में आ गई थी. वाइल्ड लाइफ एसओएस एनजीओ ने अपराधियों की सूचना देने वाले को एक लाख रुपये देने का ऐलान किया है. वहीं दूसरी ओर ह्यूमेन सोसायटी इंटरनेशनल/इंडिया(HSI) ने 50 हजार रुपये इनाम का ऐलान किया है. टीओआई के मुताबिक, संस्था का कहना है कि निराशाजनक है कि एक गर्भवती हाथी को केरल में इस तरह से मौत मिली. हमें यह तय करना होगा कि इस घटना के दोषियों को सजा मिले.

अपराधियों के खिलाफ केस दर्ज होगा. हम जांच में अधिकारियों का सहयोग करेंगे. हम पूरी प्रक्रिया में सहयोग करेंगे.संस्था ने एक नंबर भी इस संबंध में जारी किया है. संस्था की ओर से कहा गया है कि अगर हाथियों के बचाने के अभियान से आप जुड़ना चाहते हैं तो एलीफैंट हेल्पलाइन नंबर +91-9971699727 पर कॉल करें या info@wildlifesos.org पर मेल करें.

HSI ने रखा 50 हजार का इनाम

गर्भवती हथिनी की मौत मामले पर एचएसआई इंडिया ने घोषणा की है कि जो कोई हथिनी के हत्यारों की पहचान कराने में मदद करेगा, उसके 50,000 रुपये पुरस्कार दिए जाएंगे. कंपनी की ओर से कहा गया, 'इंसान और वन्य जीव समुदाय के बीच जंग के प्रभाव को हम समझते हैं. हम इस दर्दनाक घटना पर शोक जताते हैं और कड़ी निंदा करते हैं. जानवरों के खिलाफ अमानवीयता, उनके शोषण और अन्य गलत व्यवहारों के खिलाफ काम करने वाली इस संस्था ने लोगों से इस घटना के अलावा ऐसी किसी अन्य घटना के बारे में भी जानकारी देने के लिए अपना वॉट्सऐप नंबर (7674922044) जारी किया है.

दोषी नहीं बख्शे जाएंगे- प्रकाश जावड़ेकर

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि हाथी की मौत के मामले में केंद्र सरकार बहुत गंभीर है. उन्होंने गुरुवार को कहा कि केंद्र सरकार ने केरल के मल्लपुरम में एक हाथी की हत्या के मामले पर गंभीरता दिखाई है. हम सही तरीके से जांच करने और अपराधियों को पकड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे. हाथियों को पटाखा खिलाना और मारना भारतीय संस्कृति नहीं है

Posted By: Utpal Kant

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें