1. home Hindi News
  2. national
  3. irctc indian railway grp penalty will be collected from passengers who do not apply masks during train journey aml

IRCTC, Indian Railway: ट्रेन सफर के दौरान मास्क नहीं लगाया तो GRP वसूलेगी जुर्माना

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Indian Railways/IRCTC News
Indian Railways/IRCTC News
File Photo

IRCTC, Indian Railway नयी दिल्ली : ट्रेनों और रेलवे स्टेशनों (Railway Stations) पर मास्क नहीं लगाना आपको भारी पड़ सकता है. देश में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए रेलवे ने सख्ती बरतने का निर्णय लिया है. अब कोई भी पैसेंजर बिना मास्क के रेलवे स्टेशन पर या ट्रेन में दिखाई देगा तो उससे 500 रुपये का जुर्माना वसूला जायेगा. ऐसे पैसेंजर्स से गवर्नमेंट रेलवे पुलिस (GRP) जुर्माना वसूलेगी.

वसूले गये जुर्माने की राशि राज्य सरकार के फंड में जायेगी. जीआरपी राज्य की पुलिस होती है जो रेलवे स्टेशनों पर तैनात होती है. कई बार लोग मास्क नहीं लगाने के कई बहाने बनाते हैं, लेकिन किसी भी व्यक्ति का बख्शा नहीं जायेगा. अगर आप भी रेलवे से सफर करने की योजना बना रहे हैं तो मास्क जरूर लगायें. इसके साथ ही सभी यात्रियों को सरकार की ओर से जारी प्रोटोकॉल का भी पालन करना होगा.

मास्क को लेकर कई राज्य की सरकारों ने पहले से ही जुर्माना वसूलने का काम शुरू कर दिया है. महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर बिना मास्क के घर से बाहर निकलने वालों से 500-1000 रुपये तक जुर्माना वसूला जा रहा है. कई राज्यों ने बसों का परिचालन भी शुरू किया है. बसों में भी सोशल डिस्टैंसिंग और मास्क को जरूरी बताया गया है.

12 सितंबर से चलेंगी 80 और ट्रेनें, अभी 230 का हो रहा परिचालन

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वी के यादव ने शनिवार को बताया था कि 12 सितंबर से 80 नयी विशेष ट्रेनें चलेंगी. इसके लिए आरक्षण 10 सितंबर से शुरू होगा. उन्होंने कहा, ‘80 नयी विशेष ट्रेनें या 40 जोड़ी ट्रेनें 12 सितंबर से शुरू होंगी. इसके लिए आरक्षण 10 सितंबर से आरंभ होगा. ये ट्रेनें पहले से ही चल रही 230 ट्रेनों के अतिरिक्त होंगी.' रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा, ‘विशेष ट्रेन के लिए जब भी जरूरत होगी, जहां भी प्रतीक्षा सूची लंबी होगी, हम मूल ट्रेन के बाद उसी तरह की (क्लोन) ट्रेन चलाएंगे ताकि यात्री उसमें यात्रा कर सकें.'

यादव ने कहा कि 80 नयी ट्रेनों पर फैसला करने में इस तथ्य को भी ध्यान में रखा गया कि कई स्टेशन हैं जहां से प्रवासी कामगार अपने कार्यस्थल पर वापस जा रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘हम मांग के हिसाब से और ट्रेनें चलाएंगे. संचालित हो रही 230 ट्रेनों में से 12 में यात्रियों की संख्या कम है. हम उन्हें चला रहे हैं लेकिन डिब्बों की संख्या घटाएंगे.'

Posted by: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें