1. home Home
  2. national
  3. increasing threat of omicron delhi government ordered conduct genome sequencing of every covid positive rjh

ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे को देखते हुए दिल्ली सरकार ने की तैयारी, होम आइसोलेशन की व्यवस्था दुरुस्त करने पर जोर

अरविंद केजरीवाल ने बताया कि ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने होम आइसोलेशन की व्यवस्था को मजबूत करने का फैसला किया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Arvind Kejriwal
Arvind Kejriwal
Twitter

ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने यह फैसला किया है कि अब हर कोविड 19 पॉजिटिव केस की जीनोम सिक्वेंसिंग होगी. यह निर्णय ओमिक्रॉन वैरिएंट के प्रसार को रोकने के लिए किया गया है. यह जानकारी आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दी.

अरविंद केजरीवाल ने बताया कि ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने होम आइसोलेशन की व्यवस्था को मजबूत करने का फैसला किया है. अबतक की जानकारी के अनुसार ओमिक्रॉन में लक्षण काफी सामान्य आ रहे हैं, जिसमें अस्पताल में भरती होने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

ओमिक्रॉन के प्रसार को रोकने के लिए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने केंद्र से स्वास्थ्य कर्मियों के लिए कोविड -19 वैक्सीन के बूस्टर डोज को स्वीकृति देने का आग्रह किया है. उसके बाद आम लोग जिन्होंने वैक्सीन की दोनों डोज ली है उन्हें वैक्सीन का बूस्टर डोज दिया जायेगा.

https://www.prabhatkhabar.com/national/aiims-director-dr-randeep-guleria-said-at-present-impossible-to-say-anything-about-omicron-rjh

अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता आयोजित दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की बैठक में यह निर्णय लिये गये. गौरतलब है कि कल दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलों में अचानक वृद्धि देखी गयी. रविवार को कोरोना संक्रमण के कुल 107 मामले सामने आये हैं.

दिल्ली में आज तक ओमिक्रॉन वैरिएंट के 24 मामले सामने आ गये हैं. अरविंद केजरीवाल ने बताया कि डीडीएमए की बैठक में हमने ओमिक्रॉन वैरिएंट पर चर्चा की और एक्सपर्ट की राय जानी. एक्सपर्ट्‌स ने बताया कि ओमिक्रॉन वैरिएंट बहुत अधिक संक्रामक है, लेकिन इसके लक्षण सामान्य है. इस वैरिएंट में मृत्युदर भी काफी कम है, इसलिए सरकार ने होम आइसोलेशन की व्यवस्था की है.

अरविंद केजरीवाल ने बताया कि प्रदेश में 90 प्रतिशत लोगों ने वैक्सीन की सिंगल डोज ले ली है, जबकि 70 प्रतिशत लोगों ने डबल डोज ले लिया है. इसलिए सरकार ने बूस्टर डोज को स्वीकृति देने की मांग की है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें