1. home Home
  2. national
  3. fabindia jashn e riwaz controversy diwali promo tmc yashwant sinha target bjp smb

फैब इंडिया के 'जश्न-ए-रिवाज' वाले विवाद में यशवंत सिन्हा भी कूदे, बीजेपी पर कसा तंज

Fab India कपड़ों की बिक्री करने वाली ब्रैंड फैब इंडिया आलोचना और विवादों के बाद बैकफुट पर आ गई है और उसने दिवाली को जश्न-ए-रिवाज बताने वाला अपना पोस्ट अब हटा लिया है. फैब इंडिया के जश्न-ए-रिवाज वाले विवाद में अब तृणमूल कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्‍हा भी कूद पड़े हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पूर्व वित्त मंत्री और तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा.
पूर्व वित्त मंत्री और तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा.
फाइल फोटो.

Fab India Controversy कपड़ों की बिक्री करने वाली ब्रैंड फैब इंडिया आलोचना और विवादों के बाद बैकफुट पर आ गई है और उसने दिवाली को 'जश्न-ए-रिवाज' बताने वाला अपना पोस्ट अब हटा लिया है. फैब इंडिया के जश्न-ए-रिवाज वाले विवाद में अब तृणमूल कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्‍हा भी कूद पड़े हैं. यशवंत सिन्हा ने फैब इंडिया के बैकफुट पर आने के बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर तंज कसा है.

पूर्व विदेश मंत्री यशवंत सिन्हा ने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि मुझे खुशी है कि विज्ञापन को वापस लेने के लिए मजबूर करके बीजेपी ने हिंदू धर्म की रक्षा की है. ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा है कि मुझे खुशी है कि बीजेपी ने फैब इंडिया के रस्म ए रिवाज का विरोध करके और विज्ञापन को वापस लेने के लिए मजबूर करके हिंदू धर्म की रक्षा की है. यदि यह नहीं होते तो हिंदू धर्म युगों तक नहीं रहता.

वहीं, फैब इंडिया ने कहा है कि जश्न-ए-रिवाज नाम के उत्पादों का हमारा वर्तमान कैप्सूल भारतीय परंपराओं का उत्सव है. शाब्दिक रूप से यह मुहावरा का अर्थ है. कैप्सूल हमारे उत्पादों का दिवाली संग्रह नहीं है. हमारा दिवाली कलेक्शन 'झिलमिल सी दिवाली' अभी लॉन्च नहीं हुआ है. इससे पहले फैब इंडिया के एक ट्वीट के बाद पूरे मामले ने तूल पकड़ा. आलोचना और विवादों के बाद दिवाली को 'जश्न-ए-रिवाज' बताने वाला पोस्ट अब हटा लिया गया है.

बता दें कि इस पोस्ट को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों में आक्रोश देखने को मिला था और फैब इंडिया का बहिष्कार करने की मुहिम चला दी गई थी. इनमें बीजेपी के फायर ब्रैंड नेता और सांसद तेजस्वी सूर्या भी शामिल थे. फैब इंडिया ने एक प्रमोशनल ट्वीट किया था, जिसमें मॉडल्स को दिवाली कलेक्शन से जुड़ कपड़ों को पहने हुए दिखाया गया था. फैब इंडिया ने अपने ट्वीट में लिखा, 'फैब इंडिया का जश्न-ए-रिवाज एक ऐसा क्लेक्शन है जो भारतीय संस्कृति की खूबसूरती को दिखाता है. ट्विटर पर मौजूद जनता को फैब इंडिया का यह ट्वीट पसंद नहीं आया. लोगों ने दीवाली के लिए 'जश्न-ए-रिवाज' शब्द पर आपत्ति जताई.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें