1. home Hindi News
  2. national
  3. earthquake in himachal pradesh gujarat assam says national center for seismology earthquake all updates

Earthquake News: देश के 3 राज्यों में भूकंप के झटके, सहमे लोग

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Earthquake News: देश के 3 राज्यों में भूकंप के झटके, सहमे लोग
Earthquake News: देश के 3 राज्यों में भूकंप के झटके, सहमे लोग
twitter

Earthquake News : देश में गुरुवार को एक के बाद एक तीन राज्यों की धरती भूकंप के झटकों से डोल गयी. जानकारी के अनुसार हिमाचल प्रदेश के बाद गुजरात और असम में भूकंप के झटके महसूस किये गये. हालांकि, इससे अभी तक किसी तरह के नुकसान की सूचना नहीं है. देश में भूकंप के झटकों से जुड़ी हर Latest News in Hindi से अपडेट रहने के लिए बने रहें हमारे साथ.

समाचार एजेंसी एएनआइ ने भूकंप के संबंध में खबर दी है. नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी की मानें तो हिमाचल के ऊना में स्थानीय समयानुसार आज सुबह चार बजकर 47 पर भूकंप के इटके महसूस किए गए जिसकी तीव्रता रिक्टर स्केल 2.3 पर रही. भूकंप के झटकों के बाद लोग अपने-अपने घरों से निकले और खुले स्थान की ओर भागे. अभी भी लोग सहमे हुए हैं.

नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के अनुसार गुजरात के राजकोट में स्थानीय समयानुसार आज सुबह 7 बजकर 40 मिनट पर भूकंप के झटके लोगों ने महसूस किये. भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.5 मापी गयी. इधर असम के करीमगंज में आज सुबह 7 बजकर 57 मिनट पर भूकंप आया. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 4.1 थी.

छह जुलाई को पांच बार डोली गुजरात की धरती : छह जुलाई की बात करें तो इस दिन गुजरात में भूंकप के एक दो नहीं बल्कि पांच झटके महसूस हुए थे. सबसे तेज झटके की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.2 थी जिसका केंद्र कच्छ जिले के भचाऊ से 14 किलोमीटर दूर था. इससे पहले इसी दिन दोपहर के बाद 1:50 से 4:32 बजे के बीच 1.8, 1.6, 1.7 व 2.1 तीव्रता वाले भूकंप के चार झटके आ चुके थे.

आप भी जानें क्यों आता है भूकंप : आइए आपको बताते हैं कि आखिर भूकंप क्यों आता है ? दरअसल पृथ्वी के अंदर 7 प्लेट्स हैं जो लगातार घूमती रहती है. ये प्लेट्स जहां ज्यादा टकराती हैं, उसे जोन फॉल्ट लाइन की संज्ञा दी गयी है. बार-बार टकराने से प्लेट्स के कोने मुड़ते हैं. जब ज्यादा प्रेशर बनता है तो प्लेट्स टूटने लगती हैं. नीचे की एनर्जी बाहर आने का प्रयास करतीं हैं और इसके लिए रास्ता तलाश करतीं हैं. इस डिस्टर्बेंस के बाद भूकंप आता है. अर्थक्वेक ट्रैक एजेंसी की मानें तो हिमालयन बेल्ट की फॉल्ट लाइन के कारण एशियाई इलाके में ज्यादा भूकंप आते हैं.

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें