1. home Home
  2. national
  3. dengue fever in uttar pradesh delhi madhya pradesh 97 cases in prayagraj know 3 test of dengue prt

Dengue: 'डेंगू से जंग जनता के संग' सीएम शिवराज सिंह चौहान ने छेड़ा अभियान, दिल्ली, यूपी में भी बढ़े मामले

एमपी दिल्ली समेत यूपी के कई जिलों में डेंगू कहर बनकर टूट रहा है. सबसे ज्यादा बुरा हाल यूपी के प्रयागराज का है. प्रयागराज में अबतक 97 डेंगू के केस मिल चुके हैं. वहीं, मामलों में तेजी से इजाफा भी हो रहा है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Dengue Case in UP
Dengue Case in UP
Unsplash

Dengue in Delhi, UP and MP: देश के कई राज्यों में डेंगू का प्रकोप जारी है. एमपी दिल्ली समेत यूपी के कई जिलों में डेंगू कहर बनकर टूट रहा है. सबसे ज्यादा बुरा हाल यूपी के प्रयागराज का है. प्रयागराज में अबतक 97 डेंगू के केस मिल चुके हैं. वहीं, मामलों में तेजी से इजाफा भी हो रहा है. प्रयागराज के अलावा ब्रज में भी डेंगू का कहर है. आगरा में भी डेंगू के 30 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं.

दिल्ली में डेंगी का कहर: इधर दिल्ली में भी डेंगू का कहर देखने को मिल रहा है. दिल्ली में डेंगू के करीब 160 मामले सामने आ चुके हैं. हालांकि, राहत की बात यही है कि अब तक किसी की मौत नहीं हुई है. वहीं, डेंगू को लेकर स्वास्थ्य विभाग भी एक्टिव है. 2019 के बाद इस साल यानी 2021 में अबतक डेंगू के सबसे ज्यादा मामले दर्ज किए गये हैं.

मध्यप्रदेश में भी डेंगू के डंक से लोग हलकान हैं. एमपी के जबलपुर, भोपाल, इंदौर, ग्वालियर समेत कई और जिलों में डेंगू का कहर है. अकेले जबलपुर में एक दिन में डेंगू और वायरल फीवर 150 से ज्यादा नये मामले सामने आ चुके हैं. वहीं, इंदौर में भी दो दिनों में डेंगू के करीब 30 मामले सामने आ चुके है. यहां, डेंगू से एक मरीज के मौत की खबर है. प्रदेश में बढ़ते डेंगू को देखते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि, डेंगू और मलेरिया से सजग रहकर निपट सकते हैं. फॉगिंग, दवाइयों का छिड़काव और लार्वा को खाने वाली मछलियों को डालने से लेकर सारे काम नगर निगम करेगा.

डेंगू के लक्षण और बचाव के उपाये: डेंगू के मरीजों को तेज बुखार आता है. सिर में तेज दर्द रहता है. आंखों में दर्द होता है. चक्‍कर आना. मांसपेशियों और जोडों में तेज दर्द रहता है. इसके अलावा उल्टी आती है. डेंगू से बचाव के उपायों में सबसे अहम है कि आसपास पानी बिल्कुल जमा न होने दें.शरीर में तेज दर्द, तेज बुखार, थकान, उल्टी, मसूड़े या नाक से खून आने जैसे कोई भी लक्षण दिखे तो डॉक्टर से तुरंत दिखाएं.

डेंगू के लिए होते हैं तीन प्रमुख टेस्ट

  • अगर बुखार के शुरुआती 1-3 दिन में टेस्ट कराना है, तो एंटिजन ब्लड टेस्ट करा सकते हैं.

  • 4-5 दिन बाद टेस्ट कराते हैं, तो एंटीबॉडी टेस्ट (डेंगू सिरॉलजी) कराना बेहतर है.

  • इसके बाद मरीजों को प्लेटलेट्स काउंट टेस्ट की सलाह दी जाती है.

  • 2017 में आये थे डेंगू के करीब दो लाख मामले

साल मामले मौत

2015 99,913 220

2016 1,29,166 245

2017 1,88,401 325

2018 1,01,192 172

2019 1,57,315 166

2020 39,419 56

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें