1. home Hindi News
  2. national
  3. delhi news police arrested person accused incite religious sentiments through hanuman chalisa smb

Delhi News: हनुमान चालीसा के आधार पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का प्रयास, आरोपी हथियार के साथ गिरफ्तार

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में धार्मिक भावनाओं को आहत करने का एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है. दरअसल, धार्मिक भावनाएं आहत करने वाला एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसको लेकर हड़कंप मचा है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Delhi News: हनुमान चालीसा के आधार पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का प्रयास के आरोप में युवक गिरफ्तार
Delhi News: हनुमान चालीसा के आधार पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का प्रयास के आरोप में युवक गिरफ्तार
ट्वीटर

Delhi News: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में धार्मिक भावनाओं को आहत करने का एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है. दरअसल, धार्मिक भावनाएं आहत करने वाला एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसको लेकर हड़कंप मचा है. हालांकि, दिल्ली पुलिस ने इस मामले में मंगलवार को एक आरोपी को हथियार के साथ गिरफ्तार कर लिया है.

हथियार के साथ हुई आरोपी की गिरफ्तारी

न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली में उत्तर-पूर्वी जिला पुलिस उपायुक्त संजय कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि एक वीडियो संज्ञान में आया, जिसमें हनुमान चालीसा के आधार पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का प्रयास एक युवक द्वारा किया जा रहा था. उसे पकड़ लिया गया है. आरोपी अपना नाम सोहेल चौधरी बता रहा है. संजय कुमार ने बताया कि उसकी गिरफ्तारी एक हथियार के साथ हुई है.

जहांगीरपुरी हिंसा के बाद से पुलिस अलर्ट

बता दें कि 16 अप्रैल को हनुमान जयंती के अवसर पर दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में निकाली गई शोभायात्रा के दौरान हुई हिंसा के बाद से दिल्ली पुलिस धार्मिक भावनाओं को भड़काने से जुड़ी हर तरह सूचनाओं और घटनाओं पर पैनी नजर रखे हुए है. इसी कड़ी में वायरल वीडियो मामले में पुलिस ने आज कार्रवाई करते हुए युवक को गिरफ्तार किया है.

जहांगीरपुरी हिंसा:  PFI की भूमिका की जांच में जुटी एजेंसियां

इधर, जहांगीरपुरी हिंसा में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) की कथित भूमिका की जांच कर रही है. खुफिया नेटवर्क के सूत्रों ने कहा है कि एजेंसियां जहांगीरपुरी में पीएफआई की छात्र शाखा से जुड़े कुछ लोगों की मौजूदगी की जांच कर रही हैं और यह पता लगाने की कोशिश कर रही हैं कि वे इलाके में किससे मिले थे. सूत्रों ने यह भी कहा कि उन्होंने पीएफआई छात्र विंग के सदस्यों के लगभग 22 मोबाइल नंबरों की पहचान की है, जो हिंसा भड़कने से पहले क्षेत्र में मौजूद थे. जांच एजेंसियां उनकी गतिविधियों का पता लगाने की कोशिश कर रही हैं और दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा उनसे पूछताछ कर सकती है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें