1. home Hindi News
  2. national
  3. covid vaccine is not as effective on delta and delta plus variants of coronavirus claims who official aml

कोरोना के डेल्टा और डेल्टा प्लस वेरिएंट पर उतना प्रभावी नहीं है कोविड वैक्सीन, डब्ल्यूएचओ अधिकारी का दावा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
भारत में चल रहा है वृहद टीकाकरण अभियान.
भारत में चल रहा है वृहद टीकाकरण अभियान.
PTI

नयी दिल्ली : विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के एक महामारी विज्ञानी ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 टीके (Corona Vaccine) कोरोनवायरस वायरस (Coronavirus) के डेल्टा वेरिएंट (Delta variants) के खिलाफ कम प्रभावकारिता के संकेत दिखा रहे हैं. हालांकि, टीके अभी भी गंभीर बीमारी और मृत्यु को रोकने में प्रभावी पाये गये हैं. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, डब्ल्यूएचओ के अधिकारी ने कहा कि भविष्य में, वायरस में और म्यूटेशन देखने को मिल सकता है, जिसका अर्थ है कि टीके कोरोनावायरस से लड़ने के खिलाफ अपनी शक्ति खो सकते हैं.

डेल्टा प्लस वेरिएंट की पहचान डेल्टा या बी.1.617.2 संस्करण में एक उत्परिवर्तन के कारण हुआ है. इसे पहली बार भारत में पहचाना गया और देश में दूसरी लहर के मुख्य कारण माना गया है. यूके सहित कई अन्य देशों में भी इसे दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार माना गया है. डब्ल्यूएचओ द्वारा वायरस के अत्यधिक संक्रमणीय संस्करण को चिंता के चौथे प्रकार के रूप में सूचीबद्ध किया गया है. नवीनतम संस्करण, यूनाइटेड किंगडम के लिए एक खतरा बन गया है जहां दैनिक मामले फिर से 10,000 से अधिक हो गये हैं.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने सोमवार को कहा कि आने वाले दिन कड़ी सर्दी के हो सकते हैं. उन्होंने कहा कि भले ही चीजें अच्छी लग रही हों, ऐसा लगता हो कि 19 जुलाई के बाद देश में सभी लॉकडाउन प्रतिबंधों को समाप्त कर दिया जाए, लेकिन सावधान रहने की जरूरत है. जॉनसन की चेतावनी ऐसे समय में आयी है जब यूके में रविवार को 9,284 दैनिक कोविड-19 संक्रमण दर्ज किये गये.

पिछली बार जब ब्रिटेन ने लॉकडाउन समाप्त करने की तैयारी की थी तब इसी डेल्टा वेरिएंट ने लॉकडाउन बढ़ाने की नौबत ला दी थी. जॉनसन ने कहा कि भारत में पहली बार पहचाने जाने वाले कोविड-19 के डेल्टा संस्करण के मामले, अस्पताल में भर्ती होने और गहन देखभाल के प्रवेश के साथ-साथ प्रति सप्ताह लगभग 30 फीसदी की दर से बढ़ रहे हैं.

इधर, रूसी अधिकारियों ने मामलों में चल रहे उछाल के लिए डेल्टा वेरिएंट को ही दोषी ठहराया है, जिसमें 17,000 से अधिक नये कोविड-19 मामले चौथे दिन आये हैं. यह मानते हुए कि एक राष्ट्रव्यापी विज्ञापन अभियान लोगों को टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित करने के लिए है, वे कम पड़ गया था. राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सोमवार को चेतावनी दी कि कुछ रूसी क्षेत्रों में कोरोनावायरस की स्थिति खराब हो रही है.

इसके अतिरिक्त, पुर्तगाली अधिकारियों ने संदेह की पुष्टि की है कि कोरोनावायरस का नया डेल्टा संस्करण लिस्बन क्षेत्र में नए मामलों में वृद्धि कर रहा है. पुर्तगाल के राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान ने रविवार को कहा कि भारत में पहली बार पाया जाने वाला अत्यधिक संक्रामक रूप देश की राजधानी में 60 फीसदी नये मामलों के लिए जिम्मेदार है.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें