1. home Hindi News
  2. national
  3. covid 19 in delhi least active corona cases since june 1 indelhi 42 percent more beds than a month ago

Covid-19: दिल्ली में तेजी से घट रहा कोरोना का ग्राफ, जून के मुकाबले एक्टिव केस कम, बेड बढ़े- मरीज घटे

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
दिल्ली में संक्रमण के मामलों में कमी आती दिख रही है. इ
दिल्ली में संक्रमण के मामलों में कमी आती दिख रही है. इ
File

देश में जहां कोरोना वायरस के तकरीबन रोज रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं, वहीं दिल्ली में संक्रमण के मामलों में कमी आती दिख रही है. इसके साथ ही रिकवरी रेट में काफी इजाफा हो रहा है. अब तक सामने आए कुल मामलों के 9.77 फीसदी ही अब ऐक्टिव केस हैं. दिल्ली में कोविड के लिए 15 हजार बेड हैं जिनमें से 12 हजार से ज्यादा बेड खाली हैं. एचटी की खबर के मुताबिक, दिल्ली में सोमवार तक 11 हजार एक्टिव केस थे जो एक जून के बाद सबसे कम है.

दिल्ली सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, एक माह पहले जितनी बेडों की संख्या थी आज की तारीख में 42 फीसदी ज्यादा बेड हैं. बीते 45 दिन के आंकड़ों पर नजर डालें तो रविवार को 10994 एक्टिव मामले थे जो 26 जून को 27657 थे. एक माह पहले दिल्ली की ऐसी हालत थी कि जिसे लोग कोरोना का पीक बता रहे थे. 26 जून को 3460 नये मामले थे जो उस दिन कुल टेस्ट का 16 फीसदी थी. ये नंबर पॉजिटिविटी रेट भी दिखा रहा था. रविवार को पॉजिटिविटी रेट 5.32 फीसदी हो गया.

सोमवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, 2835 मरीज ही अस्पतालों में भर्ती हैं. शहर के विभिन्न अस्पतालों में बेडों की क्षमता 15451 है. इसमें से 2095 बेड आईसीयू के हैं जो सोमवार तक 36 फीसदी प्रयोग में हैं. ये आंकड़ा दिल्ली कोरोना एप से मिला है. बीते हफ्ते दिल्ली के स्वास्थय मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा था कि सरकार की योजना है कि सक्रिय मरीजों से तीन गुना बेड शहर में मौजूद हो. ताकि मामले अचानक से बढ़ भी जाए तो परेशानी नहीं हो. उन्होंने कहा था कि बीते सात या 10 दिन के आंकड़ों के हिसाब से कुछ तय नहीं कर सकते हैं.

आज की तारीख में रोजाना एक हाजर से कम मामले सामने आ रहे हैं. लेकिन हम यह नहीं जानते कि आगे भी ऐसा ही रहेगा. उन्होंने कहा कि अगर हम आराम की स्थिति में आ गए और नंबर फिर से बढ़ने लगा तो हम क्या करेंगे. इसलिए अभी वेट एंड वॉच की स्थिति में हैं. दिल्ली स्वास्थ महकमे के अधिकारी के मुताबिक, एक से पांच अगस्त के बीच दिल्ली में सीरो सर्वे किया जाएगा. इस हफ्ते के अंत में बैठक कर आगे की योजना पर बात होगी. मध्य अगस्त में दूसरी बार सीरो सर्वे होगा तब कुछ अंतिम आधार पर कहा जाएगा. सीरो सर्रवे के तहत रैंडम सैंपलिंग की जाएगी. इससे पहले 27 जून से 5 जुलाई तक सीरो सर्वे में 22 हजार लोगों का सैंपल लिया गया था. इससे यह पता चला ता कि दिल्ली के 23 फीसदी नागरिकों में एंटीबॉडी है.

जुलाई में मौत कम

राजधानी में कोरोना संक्रमण से हालात अब काफी ठीक हो चुके हैं. इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि देश में संक्रमण प्रभावित राज्यों में सबसे कम सक्रिय मरीज दिल्ली में हैं. बीते एक महीने में इन मरीजों की संख्या में 50 फीसदी से अधिक कम हुई है.25 जून तक यहां 26586 एक्टिव केस थे. इस हिसाब से देखें तो बीते एक महीने इन मरीजों की संख्या में 50 फीसदी से अधिक कमी आई है.

दिल्ली सरकार ने रविवार को जानकारी दी है कि स्वास्थ विभाग ने 1 से 12 जून और 1 से 12 जुलाई तक राजधानी में होने वाली मौतों को आंकलन किया है. रिपोर्ट में सामने आया है कि जून के मुकाबले जुलाई में कोरोना वायरस से होने वाली मौतों में 44 प्रतिशत की गिरावट आई है. दिल्ली में जहां 1 से 12 जून के दौरान 1089 लोगों की मौत हुई थी. वहीं 1 से 12 जुलाई के बीच 605 मौत दर्ज की गई हैं.

Posted By: Utpal kant

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें