1. home Hindi News
  2. national
  3. coronavirus is not adopting any new method of transmission but rapidly infecting people death toll is increasing concern ministry of health said rjh

कोरोना की तीसरी लहर को रोकना मुश्किल, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- वायरस ट्रांसमिशन के लिए नया तरीका नहीं अपना रहा, पर तेजी से बढ़ा रहा संक्रमण

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Lav Agarwal
Lav Agarwal
Twitter

केंद्र के प्रिंसिपल साइंटिफिक एडवाइजर के विजय राघवन ने कहा कि कोरोना वायरस उसी तरह से ट्रांसमिट हो रहा है जैसे ओरिजनल स्ट्रेन में होता है. यह वायरस ट्रांसमिशन के लिए कोई नया तरीका नहीं अपना रहा. लेकिन यह अपना संक्रमण तेजी से फैला रहा है और ज्यादा से ज्यादा लोगों को शिकार बना रहा है. ऐसे में तीसरी लहर की आशंका है, लेकिन तीसरी लहर कब आयेगी इस बारे में कुछ कहना मुश्किल है. इसलिए हमलोगों ने तीसरी लहर से निपटने की तैयारी कर रहे हैं.

अभी जो वेरिएंट देश में नजर आ रहा है उसके खिलाफ टीका प्रभावी है. दुनिया के साथ भारत में भी नये वैरिएंट पैदा होंगे, लेकिन ट्रांसमिशन का तरीका वही होगा. पूरी दुनिया के वैज्ञानिक इस वायरस पर अंकुश लगाने के लिए काम कर रहे हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से आज यह कहा गया कि देश के 12 राज्यों में कोरोना का खतरा अधिक है. ये ऐेसे राज्य हैं जहां एक लाख से अधिक कोरोना के एक्टिव केस हैं. वहीं सात राज्य ऐसे हैं जहां 50 हजार से एक लाख तक केस हैं, जबकि 17 राज्यों में 50 हजार से भी कम केस हैं.

मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि टीकाकरण के लिए सरकार ने नयी पाॅलिसी लायी है जिसके तहत 18-44 साल तक के लोगों को वैक्सीन दिया जा रहा है, इसकी शुरुआत एक मई से हो गयी है. यह वैक्सीनेशन कार्यक्रम नौ राज्यों में शुरू हो गया है. जिसके तहत 6.71 लाख लोगों को टीका दिया जा चुका है.

उन्होंने कहा कि चिंता के कुछ क्षेत्र हैं. बंगलुरू में पिछले एक सप्ताह में 1.49 लाख मामले सामने आये हैं. तमिलनाडु में भी केस लगातार बढ़ रहे हैं, जिनपर नियंत्रण की जरूरत है. देश में दिन प्रतिदिन लगभग 2.4 प्रतिशत की दर से केस बढ़ रहे हैं. साथ ही मौत के आंकड़ों में वृद्धि भी चिंता की वजह है. महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, दिल्ली और हरियाणा में मौत के मामले बढ़े हैं.

प्रेस काॅन्फ्रेस में नीति आयोग के डाॅ वीके पाॅल ने कहा कि यह बीमारी जानवरों से इंसानों में नहीं आ रही है. इसका संक्रमण इंसानों से इंसानों में हो रहा. कोरोना के चेन को तोड़ने के लिए लाॅकडाउन लगाया जाता है. देश में कई जगहों पर नाइट कर्फ्यू और वीकेंड लाॅकडाउन है.

आज देश में पिछले 24 घंटे में तीन लाख 82 हजार से अधिक मामले सामने आये हैं जबकि तीन हजार सात सौ से अधिक लोगों की मौत हुई है. एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि अगर देश को कोरोना वायरस की तीसरी लहर से बचाना है तो देश में लाॅकडाउन लगाना और वैक्सीनेशन ही उपाय है.

Posted By : Rajneesh Anand

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें