1. home Home
  2. national
  3. congress leaders meeting held at sonia gandhi residence for winter session of parliament rjh

संसद के शीतकालीन सत्र में सरकार को घेरने की तैयारी में कांग्रेस, सोनिया गांधी के आवास पर हुई रणनीति बैठक

राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि कांग्रेस रणनीति समूह की बैठक हुई जिसमें हमने फैसला किया है कि हम संसद में कई मुद्दों को उठाएंगे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Congress leaders meeting at Sonia Gandhi residence
Congress leaders meeting at Sonia Gandhi residence
Twitter

संसद के शीतकालीन सत्र को लेकर आज शाम कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की बैठक हुई. इस बैठक में कांग्रेस नेताओं ने सत्र के दौरान सरकार को घेरने की रणनीति पर चर्चा की.

बैठक के बाद राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि कांग्रेस रणनीति समूह की बैठक हुई जिसमें हमने फैसला किया है कि हम संसद में कई मुद्दों को उठाएंगे. जिसमें मुद्रास्फीति, पेट्रोल और डीजल की कीमतें, चीनी आक्रामकता और जम्मू-कश्मीर का मुद्दा शामिल है.

  • 29 नवंबर से शुरू हो रहा है संसद का शीतकालीन सत्र

  • सोनिया गांधी के आवास पर बनी नरेंद्र मोदी सरकार को घेरने की रणनीति

  • लखीमपुरी खीरी का मामला गरमाया

उन्होंने बताया कि संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन 29 नवंबर को लखीमपुर खीरी कांड में शामिल होने को लेकर अजय कुमार मिश्रा को कैबिनेट से हटाने सहित किसानों के मुद्दे को भी उठाएगी.

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि हम इन मुद्दों पर संसद में विपक्ष को एक साथ लाने की कोशिश करेंगे. साथ ही विभिन्न दलों के नेताओं के साथ बैठक करेंगे. कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि कांग्रेस प्रमुख विपक्षी दल है. हम पूरी ईमानदारी से अपना कर्तव्य निभाने की कोशिश करेंगे ताकि विपक्षी दल इन मामलों पर एक साथ बोल सकें.

ऐसी जानकारी सामने आयी है कि राहुल गांधी रविवार को प्रेस काॅन्फ्रेंस भी आयोजित करेंगे, जिसमें सरकार को घेरने की रणनीति के बारे में जानकारी देंगे. राहुल गांधी ने संसद में कोविड के दौरान हुए कुप्रबंधन के मुद्दे को भी उठाने की बात कही है. साथ ही कोविड से जिन लोगों की मौत हुई है उनके परिजनों को चार लाख रुपया मुआवजा देने की मांग को भी संसद में उठाने की बात कही है. राहुल गांधी ने कहा है कि जिस गुजरात माॅडल की बात होती है वहां सिर्फ 10 हजार लोगों को मुआवजा मिला, जबकि वहां तीन लाख लोगों की मौत हुई है.

Posted By : Rajneesh Anand

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें