1. home Home
  2. national
  3. cabinet committee on security approves procurement of 56 c 295 mw transport aircraft for indian air force smb

भारतीय वायुसेना की बढ़ेगी ताकत, केंद्र ने 56 सी-295एमडब्ल्यू ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट खरीदने को दी मंजूरी

IAF MW Transport Aircraft केंद्र सरकार द्वारा भारतीय वायुसेना की ताकत को और बढ़ाने की दिशा में लगातार प्रयास किए जा रहे है. इसी कड़ी में सुरक्षा मामलों की समिति ने बुधवार को भारतीय वायुसेना के लिए 56 सी-295 एमडब्ल्यू ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट खरीदने की मंजूरी दे दी है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
IAF : केंद्र ने 56 सी-295एमडब्ल्यू ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट खरीदने को दी मंजूरी
IAF : केंद्र ने 56 सी-295एमडब्ल्यू ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट खरीदने को दी मंजूरी
file

IAF MW Transport Aircraft केंद्र सरकार द्वारा भारतीय वायुसेना की ताकत को और बढ़ाने की दिशा में लगातार प्रयास किए जा रहे है. इसी कड़ी में सुरक्षा मामलों की समिति ने बुधवार को भारतीय वायुसेना के लिए 56 सी-295 एमडब्ल्यू ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट खरीदने की मंजूरी दे दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को संपन्न हुई केंद्रीय कैबिनेट की सुरक्षा मामलों की समिति ने इस आशय के प्रस्ताव पर मुहर लगाई गई.

केंद्र सरकार ने कहा कि सभी 56 विमानों को स्वदेशी इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर सूट के साथ तैयार किया जाएगा. यह अपने आप में इस तरह का पहला प्रोजेक्ट है, जिसमें भारत के अंदर प्राइवेट कंपनी की तरफ से सैन्य एयरक्राफ्ट तैयार किए जाएंगे. सरकार ने कहा कि यह कार्यक्रम देश के एयरोस्पेस पारिस्थितिकी तंत्र में रोजगार सृजन में उत्प्रेरक के तौर पर कार्य करेगा. इससे प्रत्यक्ष रूप से 600 अत्यधिक कुशल रोजगार, तीन हजार से अधिक अप्रत्यक्ष रोजगार और अतिरिक्त तीन हजार मध्यम कौशल रोजगार के अवसर पैदा होने की उम्मीद है.

बताया जा रहा है कि पांच से दस टन की क्षमता वाले ये विमान अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी पर आधारित होंगे. ये मालवाहक विमान स्पेन की मेयर्स एयर बस डिफेंस एंड स्पेस कंपनी से खरीदे जाएंगे. कंपनी अनुबंध पर हस्ताक्षर होने के चार वर्षों में उड़ने की हालत में तैयार सोलह विमान की आपूर्ति करेगी और बाकी चालीस विमान देश में ही टाटा कंसोटिर्यम द्वारा दस वर्षों में बनाए जाएंगे. इन विमानों के लिए कलपुर्जे भी देश की सूक्ष्म और लघु तथा मध्यम इकाइयों द्वारा बनाए जाएंगे. विमान के पिछले हिससे में एक रैंप होगा, जिससे छताधारी सैनिक और समान को तेजी और आसानी से उतारा जा सकता है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें