1. home Hindi News
  2. national
  3. absconder mehul choksi making a new story of his kidnapping dominica pm said choksi rights will be respected aml

भगोड़े मेहुल चोकसी ने गढ़ी अपने अपहरण की कहानी, डोमिनिका पीएम बोले- चोकसी के अधिकारों का सम्मान होगा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
मेहुल चोकसी
मेहुल चोकसी
ANI

नयी दिल्ली : भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) ने अपने बचाव के लिए एक नया दांव खेला है. उसने आरोप लगाया है कि उसकी महिला मित्र बारबरा जबरिका ने भारतीय एजेंटों के साथ मिलकर उसका अपहरण किया और उसकी पिटाई भी करवायी. चोकसी ने 2 जून को एंटीगुआ पुलिस के पास एक शिकायत भी दर्ज करायी है. उसने कहा कि जिस नाव में उसे ले जाया गया, उसमें दो भारतीय और तीन एंटीगुआ नागरिक थे. उसे बताया गया था कि डोमिनिका में उसकी मुलाकात एक भारतीय नेता से करायी जायेगी.

चोकसी की कानूनी टीम के माध्यम से दायर की गई शिकायत में यह भी दावा किया गया है कि वह बारबरा जबरिका को एक साल से जानता है और भारतीय एजेंटों द्वारा ऑपरेशन में उसकी भूमिका का विवरण दिया है. 23 मई की रात को लापता होने से पहले चोकसी जिस रहस्यमय महिला से मिलने गया थी, उसकी पहचान बाबरिका जराबिका के रूप में की गयी थी. चोकसी 24 मई से डोमिनिका में न्यायिक हिरासत में है, उस पर अवैध रूप से देश में प्रवेश करने का आरोप है.

आज डोमिनिका के प्रधानमंत्री का बयान आया है. पीएम रूजवेल्ट स्केरिट ने कहा कि मेहुल चोकसी के अधिकारों का सम्मान किया जायेगा. उन्होंने कहा कि अदालत आगे की कार्रवाई कर रही है. सरकार उसमें हस्तक्षेप नहीं करेगी. चोकसी के पकड़े जाने के बाद डोमिनिका के प्रधानमंत्री का पहली बार बयान आया है. इससे पहले एंटीगुला लगातार चोकसी को भारत को सौंपने को कहता रहा है.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक चोकसी ने आरोप लगाया है कि उसका अपहरण आंखों पर पट्टी बांधकर, एंटीगुआ और बारबुडा में जबरिका के घर के पीछे से किया गया. उसे एक बहुत छोटे बोट पर रखा गया था. उसके अनुसार जबरिका मूकदर्शक बनी रही. बाद में उसे एक बहुत बड़ी नाव में स्थानांतरित कर दिया गया और उसकी पट्टी हटा दी गयी. बोट पर 2 भारतीय और कैरेबियाई मूल के 3 व्यक्ति दिखाई दिए. उन्हें क्रूर और गैरकानूनी तरीके से मुझे हिरासत में लेने और अपहरण करने के उद्देश्य से काम पर रखा गया था.

चोकसी का आरोप है कि भारतीयों में से एक ने उसे बताया कि उन्होंने लगभग एक साल तक उन पर नजर रखी थी. वे मेरे घर के बारे में बहुत कुछ जानते थे. मैं कहां जाता हूं, मेरा पसंदीदा रेस्टोरेंट कौन सा है सभी कुछ. दूसरे भारतीय व्यक्ति ने उसके वित्त और उसके अपतटीय बैंक खातों के बारे में सवाल पूछा. करीब 17 घंटे की यात्रा के बाद सुबह करीब 10 बजे डोमिनिका पहुंचे. वहीं मुझे बताया गया कि मुझे एक उच्च रैंकिंग वाले भारतीय राजनेता से मिलवाया जायेगा.

उसने कहा कि लेकिन उनकी योजना कारगर साबित नहीं हुई. उनकी योजना फेल हो गयी. बाद में उनलोगों ने मेरे पैसे लूट लिये और मेरी पिटाई भी की. इसके बाद उनलोगों ने मुझे डोमिनिका के अधिकारियों को सौंप दिया. बता दें कि जब से चोकसी डोमिनिका में गिरफ्तार हुआ है तब से भारत उसे वापस लाने का प्रयास कर रहा है. इसके लिए विशेष विमान से अधिकारियों के दल को भी भेजा गया था, लेकिन वेखाली हाथ लौटे.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें