1. home Hindi News
  2. national
  3. 1 year of vaccination drive dr mansukh mandaviya said world amazed by vaccination in india mtj

टीकाकरण के 1 साल पर बोले स्वास्थ्य मंत्री डॉ मनसुख मंडाविया- हमारे वैक्सीनेशन अभियान से दुनिया चकित

कोरोना महामारी से लड़ाई में वैक्सीनेशन को भारत सरकार ने बड़ा हथियार बनाया. एक साल में कई बड़ी उपलब्धियां हासिल कीं. आप भी जानें कि स्वास्थ्य मंत्री और प्रधानमंत्री ने क्या कहा...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
1 year of vaccination: दुर्गम जगहों तक वैक्सीन पहुंचाने में ICMR ने ली ड्रोन की मदद
1 year of vaccination: दुर्गम जगहों तक वैक्सीन पहुंचाने में ICMR ने ली ड्रोन की मदद
Prabhat Khabar

नयी दिल्ली: भारत सरकार ने एक साल पहले कोरोना माहामारी (Coronavirus Pandemic) के खिलाफ जंग के खिलाफ एक बड़ी लड़ाई छेड़ी थी. कोरोना को हराने के लिए भारत सरकार ने मुफ्त वैक्सीनेशन अभियान (Vaccination Drive) की शुरुआत की थी. इस अभियान के एक साल पूरे होने पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ मनसुख मंडाविया (Dr Mansukh Mandaviya) ने कहा कि हमारे वैक्सीनेशन अभियान से आज दुनिया चकित है.

रविवार (16 जनवरी 2022) को डॉ मंडाविया ने कहा कि एक साल में हमने 156 करोड़ वैक्सीन की डोज लोगों को लगायी. 18 साल से ऊपर की 93 फीसदी भारत की आबादी आज कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ले चुकी है. 70 फीसदी आबादी ने वैक्सीन की दोनों खुराक लगवा ली है. आज का दिन हमारे लिए बेहद अहम है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी ने दस्तक दी और हमने अपने ही देश में बनी वैक्सीन लोगों को लगाने का निश्चय किया, तो बहुत से लोगों ने कन्फ्यूजन की स्थिति पैदा की. लेकिन, हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाया. कंपनियों से वैक्सीन अभियान को आगे बढ़ाने के लिए कहा. आज हम दुनिया में सबसे कम समय में सबसे ज्यादा वैक्सीन लगाने वाला देश बन गये हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ मनसुख मंडाविया ने ट्वीट करके कहा कि भारत ने पिछले साल एक अप्रैल को टीके की 10 करोड़ खुराक देने की उपलब्धि हासिल कर ली थी. 25 जून को 25 करोड़, 6 अगस्त को 50 करोड़ और 13 सितंबर को 75 करोड़ खुराकें देने का आंकड़ा पार कर लिया.

इससे पहले, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारे टीकाकरण अभियान ने वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई को बेहद मजबूत बनाया. इसके चलते ही लाखों लोगों की जान बचायी जा सकी तथा सुरक्षित तरीके से आजीविका चलायी जा सकी. पीएम मोदी ने कहा कि जब वैश्विक महामारी पहली बार आयी थी, तब वायरस के बारे में ज्यादा नहीं पता था. हालांकि, हमारे वैज्ञानिकों और नवप्रवर्तकों ने टीकों को विकसित करने में खुद को झोंक दिया.

टीकाकरण से जुड़े लोगों को पीएम मोदी ने किया सलाम

मोदी ने ट्वीट किया, ‘भारत को इस बात पर गर्व है कि हमारे देश ने टीकों के माध्यम से वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ने में योगदान दिया. मैं टीकाकरण अभियान से जुड़े प्रत्येक व्यक्ति को सलाम करता हूं. हमारे चिकित्सकों, नर्सों और स्वास्थ्यकर्मियों की भूमिका असाधारण रही है.’ प्रधानमंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई में भारत का रुख हमेशा विज्ञान आधारित रहेगा.

अमित शाह ने पीएम मोदी की सराहना की

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की और कहा कि देश ने दुनिया के लिए एक उदाहरण स्थापित किया है कि कैसे सरकार और लोग मिलकर असंभव चुनौतियों पर विजय प्राप्त कर सकते हैं. अमित शाह ने इस प्रयास के लिए वैज्ञानिकों, स्वास्थ्यकर्मियों, कोविड योद्धाओं और देश की जनता को बधाई भी दी.

भारत में वैक्सीनेशन के आंकड़े

स्वास्थ्य मंत्रालय का दावा है कि टीकाकरण के लिए काफी कम जनसंख्या वाले कई विकसित पश्चिमी देशों की तुलना में भारत का टीकाकरण कार्यक्रम सबसे सफल और सबसे बड़े टीकाकरण कार्यक्रमों में से एक है. रविवार सुबह सात बजे तक की अंतरिम रिपोर्ट के मुताबिक, देश में कोविड-19 टीकाकरण के तहत 156.76 करोड़ से ज्यादा खुराकें दी जा चुकी हैं. 43.19 लाख एहतियाती खुराकें देने के साथ ही 15 से 18 आयु वर्ग के 3,38,50,912 लाभार्थियों को पहली खुराक दी जा चुकी है.

Posted By: Mithilesh Jha

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें