18.1 C
Ranchi
Wednesday, February 21, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeबड़ी खबरVastu Tips: वास्तु के अनुसार अपने बाथरूम में नहीं छोड़ना चाहिए गंदा पानी, जानिए कारण

Vastu Tips: वास्तु के अनुसार अपने बाथरूम में नहीं छोड़ना चाहिए गंदा पानी, जानिए कारण

वास्तु शास्त्र में दिशा और घर में रखी चीजों की भूमिका अहम होती है. चाहे आपका लिविंग रूम हो, बेडरूम हो या फिर बाथरूम ही क्यों ना हो. वास्तु के अनुसार सब कुछ सही दिशा में होनी चाहिए. लोग अपने बाथरूम को नजरअंदाज कर देते हैं और इसे वास्तु के अनुसार बनाना जरूरी नहीं समझते हैं लेकिन जान लें कुछ बातें...

Vastu Tips: घर के अन्य कोनों की तरह बाथरूम भी घर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है. जिसे किसी भी कीमत पर नजरअंदाज नहीं करना चाहिए. वास्तु के अनुसार, बाथरूम वह जगह है जो घर को आर्थिक नुकसान पहुंचाने के साथ ही नकारात्मकता भी लाता है. अगर आप भी किसी नुकसान से बचना चाहते हैं तो बाथरूम से जुड़ी कुछ बातों को जान लें.

वास्तु के अनुसार अपने घर में नकारात्मक ऊर्जा को फैलने और अपने करियर और व्यक्तिगत संबंधों में बाधाएं पैदा करने से बचने के लिए बाथरूम का दरवाजा हर समय बंद रखें.

बाल्टी में कपड़े धोने के बाद गंदा पानी नहीं छोड़ना चाहिए. इसके अलावा, बाल्टी में पानी न छोड़ें क्योंकि यह आपके जीवन को प्रभावित कर सकता है.

नहाने के बाद नुकीली चीज का इस्तेमाल न करें. अगर आप नेल कटर या रेजर जैसी चीजों का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो नहाने से पहले उनका इस्तेमाल करें.

बाथरूम में कभी भी खाली बाल्टी न छोड़ें. वास्तु के अनुसार बाल्टी को साफ पानी से भरकर रखना चाहिए और अगर आप पानी नहीं भरना चाहते हैं तो अपनी बाल्टी को बाथरूम में उल्टा करके रखें. इससे वास्तु दोष की समस्या नहीं होगी.

विवाहित महिलाओं को बाल धोने के तुरंत बाद सिंदूर नहीं लगाना चाहिए. वास्तु के अनुसार इससे महिला पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा और उनके मन में नकारात्मक विचार भी आएंगे.

नहाने के बाद अपने बाथरूम को कभी भी गीला न रखें क्योंकि इससे घर में आर्थिक तंगी आ सकती है. ज्यादा अच्छा होगा कि नहाने के तुंरत बाद वाइपर से पानी को हटा दें. साथ ही, सभी चीजों को सही जगह पर रखें और अपने बाथरूम को गन्दा और असंगठित न छोड़ें.

Also Read: Vastu Tips: अगर बना रहे हैं नया घर, तो इस दिशा में बनवाएं बालकनी; खुशियों की होगी बरसात

वास्तु के अनुसार वॉशबेसिन और शॉवर क्षेत्र बाथरूम के पूर्व, उत्तर और उत्तर-पूर्व भाग में होना चाहिए. बाथरूम के दरवाजे को सजावटी मूर्तियों या धार्मिक मूर्तियों से न सजाएं.

वास्तु के अनुसार, शौचालय के इंटीरियर के लिए सबसे अच्छे रंग भूरे, बेज, क्रीम और अन्य मिट्टी के रंग हैं. काले और गहरे नीले रंग से बचें.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें