24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Successful parenting tips: आप भी चाहते हैं अपने बच्चों को सफल बनते देखना तो उन्हें ऐसे करें ट्रीट

बच्चों को अपने माता-पिता की आवाज़ सुनना अच्छा लगता है. अपने बच्चे के साथ किताब पढ़ते समय बैठना एक बेहतरीन बॉन्डिंग अनुभव है, जो उन्हें जीवन भर पढ़ने के लिए प्रेरित करेगा.

Successful parenting tips: सिर्फ माता-पिता बन जाना काफी नहीं है, इसके साथ कई सारी जिम्मेदारियां आ जाती हैं. सबसे बड़ी जिम्मेदारी यह है कि आप अपने बच्चों को अच्छे संस्कार और अच्छी परवरिश कैसे दें. कहा जाता है कि दुनिया में बच्चों के सबसे करीब उसके माता-पिता ही होते हैं तो आपको भी अपने बच्चों को समझना होगा. कभी-कभी माता-पिता का बच्चों के सामने झगड़ने लगते हैं. इससे बच्चों पर उसका गलत प्रभाव पड़ता है. एक समझदार माता-पिता अपने बच्चों का बचपन संभाल कर रखते हैं और ऐसी चीजों से बच्चे को दूर रखते हैं, जिससे उसकी मानसिक स्थिति खराब हो. अच्छे पेरेंट्स को अपने बच्चों को ऐसे ट्रीट करना चाहिए.

बच्चों को व्यवस्थित रहना सिखाएं

आपका बच्चा जब थोड़ा बड़ा हो तो आप उसे व्यवस्थित रहना सिखाइए. इसलिए, जब वे अपने खिलौनों को समेटने, अपनी प्लेट को साफ करने और खुद से कपड़े पहनने में सक्षम हो जाएं, तो उन्हें ये काम खुद करने दें. बच्चों को ज़िम्मेदारी देना, उनके आत्मविश्वास के लिए फायदेमंद होता है और आपके लिए भी अच्छा है.

also read:Personality Test: आपकी पसंदीदा लिपस्टिक का रंग क्या कहता है आपके बारे में? यहां जाने

also read:Husband-Wife-Fight-Misunderstanding-Illegal-Relationship-Domestic-Violence-Lifestyle-News

also read:Lifestye : तनाव से परेशान हैं तो नेचुरली कम करें कोर्टिसोल का लेवल, आजमाएं ये उपाय

बच्चों को अनुशासित रहना सिखाएं

कुछ लोगों को लगता है कि अनुशासन का मतलब सज़ा है, लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं हैं. अनुशासन तो हर किसी के लिए जरूरी है. इसकी मदद से आप कोई भी ऊंचाई को हासिल कर सकते हैं. इसलिए अनुशासन बच्चों को सही व्यवहार सिखाने और उन्हें जिम्मेदार, देखभाल करने वाला और आत्म-नियंत्रित बनाने में मदद करता है. बच्चों को अनुशासन में रखने से उन्हें जीवन में सही तरीके से काम करना और अच्छा इंसान बनना सिखाया जा सकता है.

पढ़ने की आदत लगाएं

बच्चों को बिना डांट फटकार के प्यार से पढ़ने की आदत लगाएं. पढ़ने की आदत उसे जिंदगी में सफल मनुष्य बनाने में मदद करेगी. इसके लिए हर दिन बच्चों के साथ किताबें पढ़ें. उन्हें अच्छी कहानियां सुनाएं, जो उन्हें प्रेरणा दे. इसे नवजात शिशु होने के समय से ही शुरू करें. बच्चों को अपने माता-पिता की आवाज़ सुनना अच्छा लगता है. अपने बच्चे के साथ किताब पढ़ते समय बैठना एक बेहतरीन बॉन्डिंग अनुभव है, जो उन्हें जीवन भर पढ़ने के लिए प्रेरित करेगा.

बच्चों के लिए कुछ खास समय जरूर निकले

आप अपने बच्चों के लिए रोजाना समय निकालें और इस समय पर आप उसके साथ कोई खेल, किताब पढ़ना, या किसी क्राफ्ट प्रोजेक्ट पर काम कर सकते हैं. इस दौरान, सुनिश्चित करें कि आपका ध्यान पूरी तरह से बच्चे पर हो और कोई भी बाहरी चीजें जैसे फोन या टीवी आपको परेशान न करें. अपने बच्चे के साथ इस तरह का क्वालिटी समय बिताने से न केवल आपका रिश्ता मजबूत होगा, बल्कि यह उन्हें यह भी दिखाएगा कि आप उनसे कितना प्यार करते हैं और उनकी परवाह करते हैं.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें