1. home Hindi News
  2. health
  3. virabhadrasana many health problems are removed by doing virabhadrasana know what is virabhadrasana method and benefits tvi

वीरभद्रासन करने से दूर होती सेहत संबंधी कई परेशानी, जानें क्या है वीरभद्रासन, विधि और फायदे

वीरभद्रासन करने से अस्थमा, इंसोम्निया और साइटिका जैसी बीमारियों के इलाज में काफी फायदा पहुंचता है. नियमित वीरभद्रासन के अभ्यास से कई तरह के फायदे होते हैँं. लेकिन इस आसन को करते समय कुछ जरूरी सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है.

By Anita Tanvi
Updated Date
virabhadrasana 1 pose
virabhadrasana 1 pose
Instagram

वीरभद्रासन को ही अंग्रेजी में वॉरियर्स पोज कहते हैं. वीरभद्रासन तीन प्रकार का होता है. वीरभद्रासन 1, वीरभद्रासन 2 और वीरभद्रासन 3. इन तीनों को नियमित रूप से करना स्वास्थ्य के लिए विभिन्न तरह से लाभदायक होता है. जानें वीरभद्रासन-1 के नियमित अभ्यास से सेहत संबंधी किस तरह की परेशानी दूर होती है.

वीरभद्रासन 1 क्या है

वीरभद्र शब्द संस्कृ​त के दो शब्दों से मिलकर बना है. पहला शब्द ‘वीर’ जिसका अर्थ बहादुर होता है, जबकि दूसरा शब्द भद्र का अर्थ मित्र होता है. योग विज्ञान में वीरभद्रासन को योद्धाओं का आसन कहा गया है. इस आसन को पावर योग का आधार माना गया है.

वीरभद्रासन 1 करने की विधि

सबसे पहले जमीन पर एक मैट बिछाएं और उस पर खड़े हो जाएं.

· अब गहरी लंबी सांस लें और अपने बाएं पैर को अंदर की तरफ मोड़ें.

· दाहिने पैर को बाहर की तरफ मोड़ें.

· अब अपने दोनों हाथों को ऊपर की तरफ लेकर जाएं.

· अपनी नजरों को भी अपने हाथों पर टिकाएं.

· इस दौरान आप गहरी लंबी सांस लेते रहें.

· आपके दोनों पैर एक ही रेखा में होने चाहिए.

· अब 30 से 40 सेकंड तक इस स्थिति में बने रहें.

· समय आप अपनी क्षमता के अनुसार भी निर्धारित कर सकते हैं.

· अब पहले की स्थिति में आने के लिए सबसे पहले अपने हाथों को नीचा कर लें.

· अपने सर को भी नीचे ले आएं. अब ये प्रक्रिया दूसरे पैर से करें.

वीरभद्रासन 1 के फायदे

1. इसके अभ्यास से छाती और फेफड़ों में खिचाव आता है

2. कंधे और गर्दन, पेट, में भी खिचाव आता है.

3. कंधों, बाज़ुओं और पीठ की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है

4. जांघों, पिंदलियों और टखनों को मजबूत करता है.

5. वीरभाद्रासन का नियमित अभ्यास साइटिका से राहत दिलाता है.

इन बीमारियों में होता है फायदा


वीरभद्रासन-1 की प्रैक्टिस से कई बीमारियों जैसे अस्थमा, इंसोम्निया और साइटिका को दूर करने में मदद मिलती है. इस आसन को करने के दौरान डायफ्राम को फैलाना होता है, जिससे श्वसन तंत्र बेहतर तरीके से काम करता है और अस्थमा के मरीजों को फायदा मिलता है.

वीरभद्रासन 1 करते समय जरूर बरतें ये सावधानी

जिन लोगों को हाई बीपी की समस्या है वे इस आसान को बिल्कुल ट्राई न करें

जिन लोगों को हाथ कंधे से उपर उठाने में परेशानी हो वे भी इसे न करें

आपके गर्दन में समस्या हो तो सिर को सीधा रखें

आपनी शारीरिक क्षमता के अनुसार ही जोर लगाएं ज्यादा करने की कोशिश न करें

Prabhat Khabar App :

देश, दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो, क्रिकेट और राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें