1. home Hindi News
  2. health
  3. now gadget will detect corona infected people in crowd of thousands scientists taken odour samples from socks this technology with sensors identified covid positive see research smt

Covid Detector Device: अब गैजेट हजारों की भीड़ में ऐसे पहचानेगा Corona संक्रमितों को, जानें क्या है वैज्ञानिकों का दावा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Covid Detector Device, Covid Sensor, Durham University, Research
Covid Detector Device, Covid Sensor, Durham University, Research
Prabhat Khabar Graphics

Covid Detector Device, Covid Sensor, Durham University, Research: ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि अब जल्द गैजेट के जरिए कोरोना संक्रमितों को हजारों की भीड़ में भी पहचाना जा सकेगा. यह शरीर की गंध से कोरोना संक्रमितों को हजारों की भीड़ में भी पहचान पाएगा. आइये जानते हैं ब्रिटेन में हुए इस शोध की क्या है सच्चाई...

संक्रमित में अलग प्रकार की गंध उत्पन्न होती है

दरअसल, अंग्रेजी वेबसाइट द प्रिंट में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक लंदन स्कूल ऑफ हाइजीन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन (एलएसएचटीएम) और डरहम विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने हाल में ही एक शोध में पाया है कि कोरोना से संक्रमित मरीजों में एक अलग प्रकार की गंध उत्पन्न होती है. यह अध्ययन डरहम विश्वविद्यालय के साथ एलएसएचटीएम और बायोटेक कंपनी रोबोसाइंटिफिक लिमिटेड के शोधकर्ताओं के नेतृत्व में किया गया था.

अभी और शोध करना बाकी

हालांकि, वैज्ञानिकों का मानना है कि इससे संबंधित अभी और शोध करने बाकी है. यदि यह तकनीक कारगर साबित हुई तो कम दाम में बड़ी मात्रा में कोरोना संक्रमितों की पहचान आसानी से की जा सकेगी. आपको बता दें कि एलएसएचटीएम में रोग नियंत्रण विभाग के प्रमुख प्रोफेसर जेम्स लोगान ने इस अध्ययन का नेतृत्व किया था.

मोजे से लिए गए शरीर के गंध के सैंपल

इस अध्ययन के तहत मोजे से शरीर की गंध के सैंपल लिए गए थे. इसके लिए कुल 54 व्यक्तियों को मोजे वितरित किए गए. इनमें से 27 लोग कोरोना से संक्रमित थे तो और बाकी 27 कोविड पॉजिटिव नहीं थे.

12 सेंसर वाले तकनीक ने की संक्रमित नमूने की पहचान

इन नमूनों को मेडिकल डिटेक्शन डॉग्स और डरहम यूनिवर्सिटी के सहयोग से एलएसएचटीएम के नेतृत्व में अध्ययन किया जा रहा था. इस दौरान रोबोसाइंटिफिक के मॉडल 307बी वीओसी द्वारा एनालाइज किया गया. जिसमें कुल 12 ओएससी सेंसर लगाए गए थे.

हर बीमारी का होता है अपना अगल गंध

OSC सेंसर तक जैसे ही कोरोना संक्रमितों के नमूनों की गंध पहुंची सेंसर ध्वनी उत्पन्न करने लगी. डरहम विश्वविद्यालय में बायोसाइंसेज विभाग के प्रोफेसर स्टीव लिंडसे ने बताया कि सभी बीमारियों का अपना अलग ही गंध होता है. इसी तरह कोरोना से संक्रमित व्यक्ति में भी अलग गंध उत्पन्न होते हैं.

गैजेट तैयार करने में जुटे वैज्ञानिक

वैज्ञानिकों ने शोध में पाया कि संक्रमितों और गैर संक्रमित लोगों के नमूने को सेंसर के माध्यम से आसानी से पहचाना गया था. ऐसे में वैज्ञानिक अब ऐसे गैजेट तैयार करने में लगे है जो खुद स्क्रीनिंग करके हजारों की भीड़ से भी संक्रमितों को पहचान कर पाएगा.

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें