1. home Home
  2. health
  3. natural pain killer food spices for headache wounds toothache stomach pain earache heartburn relief by lahsun longue dhaniya pudina haldi ke fayde smt

Natural Pain Killer: शरीर के इन हिस्सों के असहनिय दर्द से तुरंत राहत दिलाते है ये नेचुरल पेन किलर

थोड़ी से शरीर में दर्द या चोट हो हम तुरंत अंग्रेजी दवाईयों का सेवन कर लेते है. लेकिन, हल्दी, लहसुन, लौंग, पुदीना समेत कई आयुर्वेदिक मसाले व अन्य खाद्य पदार्थ नेचुरल पेन किलर के रूप में हमारे रसोई में ही मौजूद है. जिनका उपयोग कर दर्द से राहत पा सकते है. आइये जानते है

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Natural Pain Killer Food, Spices
Natural Pain Killer Food, Spices
Prabhat Khabar Graphics

Natural Pain Killer Food, Spices: थोड़ी से शरीर में दर्द या चोट हो हम तुरंत अंग्रेजी दवाईयों का सेवन कर लेते है. लेकिन, हल्दी, लहसुन, लौंग, पुदीना समेत कई आयुर्वेदिक मसाले व अन्य खाद्य पदार्थ नेचुरल पेन किलर के रूप में हमारे रसोई में ही मौजूद है. जिनका उपयोग कर दर्द से राहत पा सकते है. आइये जानते है...

लहसुन (Lahsun Ke Fayde)

बारिश के मौसम में अक्सर कान के दर्द से लोग परेशान रहते है. ऐसे में लहसुन के इस्तेमाल से आप इससे मुक्ति पा सकते है. दरअसल, लहसुन में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो कान के संक्रमण को कम कर सकता है. इसके लिए आपको लहसुन की कलियों को सरसों के तेल में डालकर गर्म करना होगा. जब यह भूरे रंग का हो जाए तो उसे छान लें और गुनगुना होने पर इसकी 2-3 बूंदें कान में डाल लें. दर्द से तुरंत राहत दिलायेगा.

लौंग (Longue Ke Fayde)

दांत में दर्द का लौंग नेचुरल पेन-किलर है. इसमें मौजूद एनालजेसिक कॉम्पोनेंट और एंटी-इंफ्लेमैटोरी गुण दांत या मसूड़ों में हुए सूजन को कम करता है. यह संक्रमण फैलने से रोकता है. लौंग के तेल में रूई के फाहे को डुबोकर दर्द वाले हिस्से वाले दांत के पास दबाने से काफी राहत मिलता है. इसके अलावा आप लौंग की दो कलियों भी चबा सकते हैं.

धनिया (Dhaniya Ke Fayde)

पेट में अक्सर गैस बन जाता है जिससे जलन या दर्द महसूस होता है तो धनिया के इस्तेमाल से ठीक कर सकते हैं. एक गिलास छाछ में यदि एक चुटकी भुना हुआ धनिया मिलाकर पिएं तो गैस और दर्द से तुरंत राहत मिलती है.

सेब का सिरका 

अपच व गैस के कारण पेट में असहनिय दर्द उठता है. ऐसे में इससे राहत पाने के लिए सेब का सिरका जरूर पिएं. यह हमारे पेट को जरूरी ऐसिड प्रदान करता है. पानी और शहद के साथ यदि इसे लिया जाए तो खट्टी डकार व पेट दर्द से तुरंत राहत मिलेगा.

हल्दी (Haldi Ke Fayde)

हल्दी तो कई मायनों में फायदेमंद है. इसका उपयोग गंभीर चोट, पुराने दर्द, सूजन, अंदरूनी घाव समेत अन्य तरह की बीमारियों से निजात पाने के लिए सदियों से इस्तेमाल हो रहा है. इसे दूध के साथ भी पी सकते हैं या इसका लेप भी कारगार है.

चेरी (Cherry Ke Fayde)

केक के ऊपर इस्तेमाल होने वाली रेड चेरी में सेहत का खजाना मौजूद है. इसमें कई प्रकार के पौष्टिक तत्व, फाइबर, विटमिन व खनिजों पाए जाते है. जो अच्छी नींद लाने से लेकर जोड़ों के दर्द से भी राहत दिलाती है.

अनन्नास (Ananas Ke Fayde)

अनानस पाचन संबंधी समस्या हो या पेट फूलना, बेचैनी अथवा शरीर के किसी हिस्से में सूजन की समस्या. अनानास का जूस पीने अथवा इसका लेप लगाने से दूर हो जाते हैं.

पुदीना (Pudina Ke Fayde)

मांसपेशियों में दर्द हो, सूजन या मस्तिष्क में तेज दर्द पुदीने के तेल या रस से तुरंत राहत पाया जा सकता है. दरअसल, पुदीने में एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट और जीवाणुरोधी गुण पाए जाते है. एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण यह दर्द से राहत दिलाता है.

आइस ट्रीटमेंट

मोच, खरोंच, मांसपेशियों में खिंचाव या कटने से दर्द हो तो इससे फौरन आइस ट्रीटमेंट से राहत पाया जा सकता है. सूजन व दर्द वाले जगह पर आप बर्फ से सिकाई करते हैं तो तुरंत राहत मिलता है. और उस जगह में खून नहीं जमता, ज्यादा कड़ापन नहीं आता.

ब्लू बैरीज

ब्लू बैरीज (Blueberries) जूस का सेवन करने से मूत्र मार्ग में संक्रमण या जलन (Urine Infection Symptoms) से तुरंत राहत मिलती है. इससे आप कच्चा भी चबा सकते है या जूस के रूप में भी पी सकते है.

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें