1. home Hindi News
  2. health
  3. heat stroke heat stroke can also be fatal do these safety measures to avoid it in summer tvi

Heat Stroke: जानलेवा भी हो सकता है हीट स्ट्रोक, गर्मियों में इससे बचने के लिए जरूर करें ये सुरक्षा उपाय

गर्मी के मौसम के दौरान पढ़ने वाली भीषण गर्मी कई बार सेहत पर बहुत भारी पड़ सकती है और आप लू के शिकार बन सकते हैं इसलिए, घर से बाहर निकलने से पहले उचित सावधानी बरतनी जरूरी है. कई बार हीट स्ट्रोक जानलेवा भी हो सकता है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Heat Stroke
Heat Stroke
Prabhat Khabar Graphics

Heat Stroke: हीट स्ट्रोक गर्मी से संबंधित सबसे गंभीर हेल्थ संबंधी परेशानी या बीमारी है. यह तब होता है जब शरीर अपने तापमान को नियंत्रित करने में असमर्थ हो जाता है: शरीर का तापमान तेजी से बढ़ता है, पसीना तंत्र विफल हो जाता है, और शरीर ठंडा नहीं हो पाता है. हीट स्ट्रोक के दौरान 10 से 15 मिनट में शरीर का तापमान 106°F या इससे अधिक भी हो सकता है. यदि आपातकालीन उपचार उपलब्ध नहीं कराया गया तो हीट स्ट्रोक मृत्यु या विकलांगता का कारण बन सकता है.

हीट स्ट्रोक के लक्षण (heat stroke symptoms)

हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार जब कोई व्यक्ति लंबे समय तक गर्मी में बाहर निकलता है, तो उसे भीषण गर्मी के कारण कई तरह की शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, जहां शरीर गर्मी के कारण बॉडी में हो रहे बदलावों को पूरा करने की कोशिश करता है लेकिन जब जब शरीर अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने में असमर्थ होता है, तो यह हीट स्ट्रोक का रूप ले लेता है. 50 वर्ष से अधिक उम्र के वयस्कों में यह स्थिति अधिक आम है जब आसपास का तापमान 40ºC से अधिक हो. हीट स्ट्रोक के लक्षणों में भ्रम, चक्कर आना, बेहोशी या कोमा, तेज हृदय गति, तेजी से सांस लेना, शुष्क त्वचा, त्वचा का लाल होना, सिरदर्द आदि शामिल हैं.

हीट स्ट्रोक के लक्षणों का अनुभव हो ये उपाय करें

एक्सपर्ट का कहना है कि गर्मी के मौसम में स्वास्थ्य को लेकर अतिरिक्त सतर्क रहना चाहिए और लू लगने के लक्षणों के प्रति जागरूक रहना चाहिए. यदि आप या आपके बगल में कोई व्यक्ति हीट स्ट्रोक के लक्षणों का अनुभव करता है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें. साथ ही इन बातों का ध्यान रखें...

  • चिकित्सा सहायता प्राप्त होने तक रोगी को छायादार, ठंडी और हवादार जगह पर घर के अंदर ले आएं.

  • उसके शरीर के तापमान को कम करने का प्रयास करें. इसके लिए व्यक्ति को टब में लिटाया जा सकता है या शॉवर के नीचे खड़ा किया जा सकता है.

  • पीड़ित के माथे, गर्दन, बगल और पैरों को ठंडा रखने के लिए गीले तौलिये, स्पंज, आइस पैक या ठंडे पानी के स्प्रे का प्रयोग करें.

  • डिहाइड्रेशन से राहत के लिए उसे भरपूर मात्रा में तरल पदार्थ दें.

हीट स्ट्रोक से कैसे बचें? (How to avoid heat stroke)

  • सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे के बीच धूप में बाहर निकलने से बचने की कोशिश करें, खासकर गर्मियों के दौरान, जब तापमान अपने चरम पर होता है.

  • यदि आप बाहर कदम रखते हैं, तो सुनिश्चित करें कि आपने ढीले-ढाले, हल्के रंग के, सूती कपड़े पहने हैं, ताकि हवा आपके शरीर के चारों ओर घूम सकती है.

  • अपने आप को धूप से बचाने के लिए एक टोपी या हैट पहनें, या आप एक छाता भी ले जा सकते हैं.

  • हमेशा पानी की बोतल ले जाएं और पानी को बार-बार घूंटें, बजाय इसके कि एक ही बार में पूरा पानी पी जाएं.

  • अपने आप को हर समय हाइड्रेटेड रखने की कोशिश करें और फल खाएं. जिसमें तरबूज या खरबूजे की तरह पानी की मात्रा अधिक होती है.

  • जब भी आप बाहर निकलते हैं, तो छाया में रहने की कोशिश करें और त्वचा को धूप के संपर्क से बचाने के लिए कम से कम 30 एसपीएफ वाला सनस्क्रीन लगाएं.

  • डिहाइड्रेशन से बचने के लिए शराब, शीतल पेय और कैफीन युक्त पेय के सेवन से बचें,

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें