1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. movie review
  4. rudra the edge of darkness review ajay devgn esha deol raashii khanna bud

Rudra Review: रुद्र द एज ऑफ डार्कनेस में पूरा दारोमदार है अजय देवगन के कंधों पर जिसे वे बखूबी निभा गए हैं

डिजिटल स्पेस में वेब सीरीज फॉरमेट में रुद्र द एज ऑफ डार्कनेस से अभिनेता अजय देवगन अपनी शुरुआत कर रहे हैं.यह वेब सीरीज ब्रिटिश की पॉपुलर वेब सीरीज लूथर का रिमेक है.

By उर्मिला कोरी
Updated Date
Rudra Web Series Review: अजय देवगन
Rudra Web Series Review: अजय देवगन
instagram
  • वेब सीरीज - रुद्र द एज ऑफ डार्कनेस

  • निर्देशक - राजेश मापुस्कर

  • कलाकार - अजय देवगन, राशि खन्ना, ईशा देओल, अतुल कुलकर्णी, विक्रम सिंह चौहान,

  • प्लेटफार्म - डिज्नी प्लस हॉटस्टार

  • रेटिंग - 3/5

डिजिटल स्पेस में वेब सीरीज फॉरमेट में रुद्र द एज ऑफ डार्कनेस से अभिनेता अजय देवगन अपनी शुरुआत कर रहे हैं.यह वेब सीरीज ब्रिटिश की पॉपुलर वेब सीरीज लूथर का रिमेक है.

सीरीज की कहानी डीएसपी रुद्रवीर( अजय देवगन ) की है. हर पुलिसिया नायक की तरह रुद्रवीर भी अपने डिपार्टमेंट का सबसे काबिल ऑफिसर है और जुर्म से निपटने का उसका भी अपना तरीका है.कानून बचाने के लिए कानून तोड़ने में यकीन करने वाले रुद्र की सोच की वजह से डिपार्टमेंट के लोग उससे नाराज़ रहते हैं.उसकी निजी जिंदगी में भी उथल पुथल मची हुई है.वह सस्पेंड चल रहा है लेकिन ऐसे केसेज आते हैं कि जिसमें सिर्फ रुद्र ही अपराधी को पकड़ सकता है. वह अपराध और अपराधी दोनों को समझता है. कैसे रुद्र इस साइकोलॉजिकल किलर को समझता है और केस बन्द करता है.इसके लिए आपको सीरीज देखनी होगीं.

इस वेब सीरीज में 6 एपिसोड्स है. इनमें से पांच कहानियों के सिरे सीधे तौर पर मर्डर मिस्ट्री से जुड़े हैं जबकि एक एपिसोड में कहानी लूटपाट से होते हुए मर्डर तक पहुंचती है. हर एपिसोड में नया अपराधी नयी कहानी के साथ है लेकिन इन सब में कुछ एक सा है. यह इस वेब सीरीज का सबसे दिलचस्प पहलू है .खामियों की बात करें तो सीरीज की शुरुआत कमज़ोर रही है.आखिर के तीन एपिसोड में रोमांच बढ़ा है और कहानी संभली है. जिससे यह वेब सीरीज देखने लायक बन जाती है. कहानी में एक ट्विस्ट भी है लेकिन उसे बहुत ज़्यादा खींच दिया गया है जिससे रोमांच कम हो गया है.

ट्विस्ट की ही नहीं सीरीज की लंबाई भी ज़्यादा है एक कहानी 50 से 55 मिनट तक है. चुस्त एडिटिंग से कहानी और प्रभावी बन सकती थी. फ़िल्म में जमकर अंधेरा और खून खराबा है जो सभी दर्शकों के लिए सहज नहीं हो सकता है.

अभिनय की बात करें तो इस वेब सीरीज में भी अजय अपनी चित परिचित भूमिका में नज़र आए हैं.यह वेब सीरीज अजय की डेब्यू है तो पूरी तरह से उनपर ही फोकस किया गया है और उन्होंने जिम्मेदारी के साथ इसे निभाया भी है.बाकी के किरदारों को सीरीज में ज़्यादा मौके नहीं मिले हैं. अश्विनी कलसेकर ,आशीष विद्यार्थी,अतुल कुलकर्णी जैसे नाम सीरीज का हिस्सा हैं लेकिन उन्हें वो स्पेस स्क्रीन पर नहीं मिल पाया है.जितनी ज़रूरत थी. राशि खन्ना ज़रूर अपने किरदार में जंची हैं. ईशा देओल अपने कैरियर की इस दूसरी इनिंग में औसत रह गयी हैं. इस सीरीज की कहानी का एक दिलचस्प पहलू हर एपिसोड्स के इसके अपराधी भी हैं. ल्यूक केनी,के सी शंकर,हेमंत खेर अपने अभिनय से छाप छोड़ते हैं खासकर के सी शंकर ने शानदार रहे हैं.

सीरीज की तकनीकी पहलुओं की बात करें तो यह असर छोड़ता है. काफी भव्य तरीके से इसे शूट किया गया है. मुम्बई को सीरीज में एक किरदार की तरह दिखाने की कोशिश की गयी है.गीत संगीत पहलुओं पर बात करें तो अनन्या बिरला का ओपनिंग थीम अच्छा बन पड़ा है जबकि बैकग्राउंड म्यूजिक में तापस का काम भी अच्छा है . संवाद कहानी के अनुरूप है.

आखिर में अजय देवगन के अगर आप फैन हैं तो यह सीरीज आपको मनोरंजन की कसौटी पर बेहतरीन लगेगी.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें