1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. kumar sanu on indian idol 12 controversy says jitna gossip utni trp samjha karo bud

Indian Idol 12 : कुमार सानू ने 'इंडियन आइडल' को लेकर दिया बड़ा बयान, बोले जितना गॉसिप उतनी TRP

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Kumar Sanu on Indian Idol 12 Controversy
Kumar Sanu on Indian Idol 12 Controversy
instagram

Kumar Sanu on Indian Idol 12 Controversy : रियलिटी सिंगिंग शो इंडियन आइडल 12 कई विवादों की वजह से लगातार सुर्खियों में बना हुआ है. यह सब शुरू हुआ किशोर कुमार के स्पेशल एपिसोड के बाद. लोग पवनदीप राजन और अरुणिता कांजीलाल की फेक लवस्टोरी पर नाराजगी जाहिर कर रहे हैं. वहीं कुछ कंटेस्टेंट के बाहर होने की मांग कर रहे हैं. इस विवाद पर कई सेलेब्स रियेक्ट कर रहे हैं. अब इसमें ताजा नाम मशहूर बैकग्राउंड सिंगर कुमार सानू का नाम जुड़ गया हैं. उन्होंने 90 के दशक में अपने गानों से दिलों पर राज किया है और हाल ही में शो में स्पेशल गेस्ट के तौर पर भी पहुंचे थे.

हाल ही में एक इंटरव्यू में कुमार सानू ने इंडियन आइडल 12 के वर्क फॉरमेट के बारे में बताया. कुमार सानू ने हाल ही में हिंदुस्तान टाइम्स से खास बातचीत की, जहां उनसे इंडियन आइडल जैसे सिंगिंग रियलिटी शो से जुड़े विवाद के बारे में पूछा गया. कुमार सानू ने कहा, 'जितना गॉसिप होगी, उतना टीआरपी बढ़ेगा, समझा करो. बड़ी बात नहीं है.

सानू ने आगे कहा, "टैलेंट रास्ता खोज लेती है और ये शो टैलेंट को सामने लाते हैं, लेकिन आगे क्या? सिर्फ इंडियन आइडल ही नहीं, हर शो ऐसी प्रतिभा को सार्वजनिक मंच पर लाता है. हो सकता है कि उन्हें इंडस्ट्री में मौका न मिले, लेकिन उन्हें कुछ और काम और पैसा पाने का मौका मिले.

उन्होंने आगे कहा, "निर्माताओं, म्यूजिक डायरेक्टर्स की जिम्मेदारी है कि वे उन्हें काम दें. कई सिंगर हैं, वे प्रतिभाशाली हैं लेकिन किसी को उन्हें काम देने की जरूरत है. ये शो टैलेंट को सुर्खियों में लाने का काम करते हैं और इंडस्ट्री के लोगों को उन्हें काम देने की जरूरत है."

कुमार सानू ने खुलासा किया कि सिगिंग की शैली बदल गई है. उन्होंने कहा: “निर्देशक अब चाहते हैं कि हम एक निश्चित तरीके से गाएं जबकि पहले हम अपने अंदाज में गा सकते थे. हम तकनीकी रूप से उन्नत हो गए हैं लेकिन पुराने संगीत की आत्मा गायब है. मैं 90 के दशक की बात करता हूं, वह गायब है. पहले कई फिल्में म्यूजिकल हिट होती थीं. अब, ध्यान और विकास साउंड पर है जबकि आत्मा गायब है. मैं चाहता हूं कि यह प्राथमिकता हो कि निर्माता गानों की आत्मा को बनाए रखें.”

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें