1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. bollywood
  4. actor jagdeep death amitabh bachchan remembers co star jagdeep says we lost another gem

Actor Jagdeep death : भावुक हुए अमिताभ बच्चन, बोले- एक और नगीना खो दिया...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
amitabh bachchan
amitabh bachchan
photo: twitter

मुंबई : महानायक अमिताभ बच्चन ने बृहस्पतिवार को कहा कि अभिनेता और हास्य कलाकार जगदीप के निधन के बाद फिल्म जगत ने ‘एक और हीरा' खो दिया. उन्होंने दिवंगत कलाकार को सरल व्यक्ति बताते हुए कहा कि उन्हें लाखों लोगों का प्यार मिला. 'सूरमा भोपाली' के नाम से मशहूर हुए जगदीप के साथ बच्चन ने ‘शोले' और ‘शहंशाह' फिल्म में काम किया था.

बच्चन ने कहा कि जगदीप ने अभिनय का ‘एक अलग ही अपना रूप' तैयार किया था. बच्चन ने अपने ब्लॉग पर लिखा, ‘‘कल रात हमने एक अन्य हीरा…जगदीप… खो दिया…बेहतरीन हास्य अभिनय की लंबी फेहरिस्त में शामिल कलाकार का निधन हो गया.''

उन्होंने कहा, ‘‘ अभिनेता ने अभिनय का अपना एक अलग ही रूप बनाया था…मुझे कई फिल्मों में उनके साथ काम करने का सम्मान मिला था…इनमें से दर्शकों के हवाले से सबसे महत्वपूर्ण ‘शोले' और ‘शहंशाह' है.'' जगदीप के निर्देशन में 1988 में बनी फिल्म ‘सूरमा भोपाली' में बच्चन अतिथि कलाकर थे.

जॉनी वॉकर और महमूद की परंपरा के कलाकार रहे जगदीप ने ‘दो बीघा जमीन', ‘आर-पार', ‘खिलौना' समेत 400 से ज्यादा फिल्मों में काम किया. जगदीप का वास्तविक नाम सैयद इश्तियाक अहमद जाफरी था और उन्होंने सिनेमा की दुनिया में बाल कलाकार के रूप में अपनी शुरुआत ‘ अफसाना' फिल्म से की थी और इसके बाद वह ‘भाभी' और ‘बरखा' जैसी फिल्मों में मुख्य भूमिका में सामने आए.

इसके बाद शम्मी कपूर अभिनीत फिल्म ‘ब्रह्मचारी' से हास्य कलाकार के रूप में दर्शकों के सामने आए. उन्होंने कहा, ‘‘ फिल्मी दुनिया के लिए अपना नाम जगदीप करना एक ऐसा सुंदर तथ्य है जो देश की विविधता में एकता को दिखाता है. उस जमाने में कई ऐसे अभिनेता हुए जिन्होंने यही किया - उनमें दिलीप कुमार, मधुबाला, मीना कुमारी, अमजद खान के पिता जयंत समेत अन्य शामिल हैं.'

गौरतलब है कि फिल्मी दुनिया में जगदीप के नाम से मशहूर हुए इस कलाकार का वास्तविक नाम सैयद इश्तियाक अहमद जाफरी था. परिवार के करीबी मित्र निर्माता महमूद अली ने पीटीआई-भाषा से कहा, '' उनका बांद्रा के अपने आवास पर रात साढ़े आठ बजे निधन हो गया. आयु संबंधी समस्याओं के कारण वह अस्वस्थ थे.'' उनका डायलॉग ''हमारा नाम सूरमा भोपाली ऐसे ही नहीं है'' काफी मशहूर हुआ.

Posted By: Budhmani Minj

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें