1. home Hindi News
  2. election
  3. up assembly elections
  4. sp district president hinted at 7 assembly seats before ticket announcement nrj

UP Election 2022: सपा जिलाध्यक्ष ने 7 विधानसभा सीट पर टिकट घोषणा से पहले किया इशारा, इन चेहरों पर दांव

सपा, अखिलेश यादव के ट्विटर हैंडल से कोई घोषणा नहीं हुई है और न ही शीर्ष नेतृत्व ने कोई पत्रकार वार्ता कर इसकी जानकारी दी गई. सपा जिला अध्यक्ष गिरीश यादव ने बताया कि इन प्रत्याशियों की पार्टी ने भी फोर्म दे दिया है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Aligarh
Updated Date
शहर से अज्जू इस्हाक ,अतरौली से वीरेश यादव, छर्रा से लक्ष्मी धनगर
शहर से अज्जू इस्हाक ,अतरौली से वीरेश यादव, छर्रा से लक्ष्मी धनगर
Prabhat Khabar

Aligarh News: अलीगढ़ की कोल, छर्रा, अतरौली विधानसभा पर सपा प्रत्याशी घोषित न होने से चली आ रही उहापोह पर सपा जिलाध्यक्ष ने पूर्ण विराम लगा दिया. अब सपा-रालोद गठबंधन के 7 विधानसभाओं पर प्रत्याशियों को दमदारी से चुनाव लड़ाने की सपा जिला संगठन ने ताल ठोक दी है.

अलीगढ़ जिला समाजवादी पार्टी की चुनावी बैठक जिला कार्यालय क्वार्सी पर जिला अध्यक्ष गिरीश यादव की अध्यक्षता में हुई, जिसका संचालन जिला प्रवक्ता राजेश सैनी ने किया. बैठक में सपा जिलाध्यक्ष गिरीश यादव ने कहा कि सपा-रालोद गठबंधन के सभी 7 विधानसभा के प्रत्याशियों की शीर्ष नेतृत्व द्वारा घोषणा कर दी गई है. जो सपा-रालोद गठबंधन के अधिकृत प्रत्याशी हैं.

  • कोल से अज्जू इस्हाक

  • शहर से पूर्व विधायक जफर आलम

  • अतरौली से पूर्व विधायक वीरेश यादव

  • छर्रा से लक्ष्मी धनगर

  • बरौली से पूर्व विधायक प्रमोद गौड़

  • खैर से पूर्व विधायक भगवती प्रसाद सूर्यवंशी

  • इगलास से ब्लाक प्रमुख वीरपाल दिवाकर

इन 3 की पार्टी स्तर से नहीं हुई घोषणा

कोल से अज्जू इस्हाक, अतरौली से पूर्व विधायक वीरेश यादव, छर्रा से लक्ष्मी धनगर की समाजवादी पार्टी के स्तर से कोई घोषणा नहीं हुई है. सपा, अखिलेश यादव के ट्विटर हैंडल से कोई घोषणा नहीं हुई है और न ही शीर्ष नेतृत्व ने कोई पत्रकार वार्ता कर इसकी जानकारी दी गई. सपा जिला अध्यक्ष गिरीश यादव ने बताया कि इन प्रत्याशियों की पार्टी ने भी फोर्म दे दिया है. सपा जिलाध्यक्ष गिरीश यादव ने लखनऊ में सपा के आदित्य जुनूनी के खुदकुशी करने के प्रयास को अनुशासनहीनता बताते हुए कहा कि जिस प्रकार टिकटों की घोषणा होने के बाद कुछ लोगों द्वारा अनुशासनहीनता की गई और अधिकृत प्रत्याशियों का विरोध किया गया, वह अनुशासन की परिधि में आता है. उक्त घटनाक्रम से शीर्ष नेतृत्व को अवगत करा दिया गया है.

रिपोर्ट : चमन शर्मा

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें