1. home Hindi News
  2. election
  3. up assembly elections
  4. sp cadre disappointed due to absence of sp chief akhilesh yadav in sp rld rally in aligarh nrj

UP Election 2022:सपा-रालोद की रैली में अखिलेश यादव के न आने से सपाई मायूस, विपक्ष पर गरजे रालोद चीफ जयंत चौधरी

समाजवादी पार्टी (सपा) और राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) की अलीगढ़ के इगलास में आयोजित संयुक्त रैली में अखिलेश यादव के न आने से सपा समर्थक मायूस होकर लौट गए.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Aligarh
Updated Date
रालोद मुखिया जयंत चौधरी रैली में सम्बोधित करते हुए.
रालोद मुखिया जयंत चौधरी रैली में सम्बोधित करते हुए.
Prabhat Khabar

Aligarh News: समाजवादी पार्टी (सपा) और राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) की अलीगढ़ के इगलास में आयोजित संयुक्त रैली में अखिलेश यादव के न आने से सपा समर्थक मायूस होकर लौट गए. हालांकि, रैली में जयंत चौधरी ने जमकर विपक्ष पर हल्ला बोला. उन्होंने कहा कि सपा-रालोद की सरकार बनी तो किसान सम्मान निधि 6000 से बढ़ाकर 12000 कर दी जाएगी. रोजगार भी भरपूर उपलब्ध कराया जाएगा.

अखिलेश के न आने का दो बजे पता चला

इगलास में आयोजित सपा-रालोद रैली में अपने मुखिया को सुनने के लिए सपाइयों में भरपूर जोश देखने को मिला. मगर इंतजार करते-करते जब दोपहर 2 बजे के लगभग रैली में केवल रालोद के मुखिया जयंत चौधरी के आने और सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के न आने का सपा समर्थकों को पता चला तो उन्हें मायूसी हुई. अखिलेश यादव ने ट्वीट कर न आने के बारे में जानकारी दी. उन्होंने ट्वीट में बताया कि परिवार के लोगों के कोरोना पॉज़िटिव होने की वजह से हम तीन दिनों के लिए एहतियात बरतते हुए सार्वजनिक कार्यक्रमों में शामिल नहीं हो पाएंगे.

बोले- योगीजी को बैलेंस शीट देखना नहीं आता

इसके बाद रालोद मुखिया जयंत चौधरी दोपहर 2 बजे सभास्थल पहुंचे. जयंत चौधरी ने विपक्ष पर हल्ला बोलते हुए कहा, ‘योगीजी बैलेंस शीट देखना नहीं जानते. अधिकारी जो बनाकर ले आते हैं. उसी पर बाबा साइन कर देते हैं. योगी और मोदी पर विश्वास करोगे तो शादी भी नहीं होगी क्योंकि उनकी सरकार ने नौकरी नहीं दी तो शादी कैसे होगी?’

गिरते-गिरते बचे जयंत चौधरी

रैली को लेकर भव्य मंच बनवाया गया था लेकिन, बेकाबू भीड़ के कारण चुनावी मंच टूट गया. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. मंच टूटने से अफरा-तफरी की स्थिति बनी रही. जयंत चौधरी के साथ मंच पर चढ़ने के लिए बड़ी संख्या में नेताओं का जमघट लग जाता है. मंच पर चढ़ने के दौरान सीढ़ी पर भीड़ भर गई थी. इसी बीच सीढ़ी टूट जाती है और नेताजी गिरने लगते हैं. जयंत चौधरी गिरते गिरते बचे. इस रैली में सपा जिलाध्यक्ष गिरीश यादव, रालोद जिलाध्यक्ष कालीचरण, पूर्व सांसद बिजेंद्र सिंह, पूर्व विधायक जमीरूल्ला, ज़फ़र आलम आदि उपस्थित रहे.

रिपोर्ट : चमन शर्मा

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें