1. home Hindi News
  2. career
  3. rrc group d exam 2021 rrc group d salary and benefits of railway employee exam details of railway recruitment control board sry

RRC Group D Exam: रेलवे 'ग्रुप डी' की परीक्षा पास करने वाले छात्रों को इतनी मिलेगी Salary, जल्द ही शुरू होंगे एक्जाम

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा की सैलरी और बेनिफिट
रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा की सैलरी और बेनिफिट
Internet

RRB NTPC परीक्षा चल रही है. एनटीपीसी की परीक्षा खत्म होने के बाद रेलवे भर्ती बोर्ड ग्रुप डी के पदों पर भर्ती के लिए पहले स्टेज की कम्प्यूटर बेस्ड परीक्षा आयोजित करेगा. बता दें कि ग्रुप-D के लिए कुल 1,03,769 पदों पर भर्तियां होनी हैं. जिसके लिए 2.5 करोड़ आवेदन किए गए हैं. इस बार काफी बड़े पैमाने पर भर्तियां हो रही हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि ग्रुप-D की इस परीक्षा में पास होने वाले लाभार्थियों को कितनी सैलरी मिलती है? क्या उन्हें भी भत्ते और सरकारी लाभ जैसी सुविधाएं मिलती हैं ?

वेतनमान

RRB ग्रुप-D के कर्मचारियों को शुरुआत में वेतन 18,000 बेसिक पे मिलता है. जो 7 वें वेतन आयोग के लेवल-1 के अन्तर्गत आता है. इसलिए सभी पोस्ट पर समान सैलरी होती है। वहीं भत्तों का आबंटन पोस्ट के स्थान के आधार पर होता है.

पीबी-1 के तहत चयनित उम्मीदवारों को प्रति महीने 15600-60600 की सैलरी मिलेगी।

पीबी-2 के तहत चयनित उम्मीदवारों को प्रति महीने 29900-104400 की सैलरी मिलेगी।

पीबी-3 के तहत चयनित उम्मीदवारों को प्रति महीने 46800-117300 की सैलरी मिलेगी।

पीबी-5 के तहत चयनित उम्मीदवारों प्रति महीने 112200-201000 की सैलरी मिलेगी।

भत्ते व अन्य लाभ

RRB Group D Salary: उम्मीदवारों के मिलेंगे ये भत्ते

1. महंगाई भत्ता (Dearness Allowance-DA)

2. दैनिक भत्ता, 8 किलोमीटर से ज्यादा पर माइलेज भत्ता (Daily Allowance, Mileage Allowance beyond 8 km)

3. परिवहन भत्ता (Transport Allowance-TPA)

4. मकान किराया भत्ता ( House Rent Allowance-HRA)

5. अवकाश के मामले में मुआवजा Compensation in case of Holidays

6. नाइट ड्यूटी के लिए भत्ता ( Allowance For Night Duty)

7. निर्धारित वाहन भत्ता (Fixed Conveyance Allowance)

8. ओवरटाइम भत्ता (Overtime Allowance-OTA)

ऐसे होगा सिलेक्शन

ग्रुप डी पदों पर उम्मीदवारों का चयन कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट और फिजिकल एफिशिएंसी टेस्ट के आधार पर किया जाएगा. इसके बाद डॉक्यूमेंट्स की वेरिफिकेशन और मेडिकल जांच होगी.

कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट में जनरल साइंस, मैथेमेटिक्स, जनरल इंटेलीजेंस एंड रीजनिंग और जनरल अवेयरनेस से संबंधित सवाल पूछे जाएंगे. हर गलत जवाब के लिए नेगेटिव मार्किंग की जाएगी.

Posted By: Shaurya Punj

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें