1. home Hindi News
  2. career
  3. rrc group d exam 2021 preparation strategy cut off salary and benefits of railway employee exam details of railway recruitment control board sry

RRC Group D Exam: ऐसे करें रेलवे 'ग्रुप-डी' की परीक्षा की तैयारी, मिलेगी निश्चित सफलता

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
रेलवे 'ग्रुप-डी' प्रिपरेशन स्ट्रैटेजी
रेलवे 'ग्रुप-डी' प्रिपरेशन स्ट्रैटेजी
Instagram

RRB ग्रुप- D की भर्ती परीक्षा का इंतजार अब खत्म होने जा रहा है. रेलवे मंत्रालय की ओर से RRB ग्रुप- D के परीक्षा की तिथि की घोषणा जल्द ही की जा सकती है. आपको बता दें रेलवे एनटीपीसी की परीक्षा फिलहाल हो रही है. अप्रैल 2021 से ग्रुप डी की परीक्षा का होने की बात विभाग द्वारा कही गई है. हालांकि अभी एग्जाम शेड्यूल और एडमिट कार्ड को लेकर कोई घोषणा नहीं हुई है. बता दें कि ग्रुप-D के लिए कुल 1,03,769 पदों पर भर्तियां होनी हैं. जिसके लिए 2.5 करोड़ आवेदन किए गए हैं. इस बार काफी बड़े पैमाने पर भर्तियां हो रही हैं.

इस तरह करें तैयारी

रेलवे बोर्ड द्वारा अप्रैल 2021 से ग्रुप डी की परीक्षा लेने की बात कही गई है. आपको बता दें कि यह परीक्षा 100 अंक की होगी, जिसके लिए प्रश्न भी 100 होंगे। प्रत्येक प्रश्न 1-1 अंक के होंगे. कुल 90 मिनट का समय दिया जाएगा. इसमें जनरल साइंस से 25, मैथ्स से 25, जनरल इंटेलीजेंस एंड रीजनिंग से 30, जनरल अवेयरनेस एंड करेंट अफेयर से 20 प्रश्न पूछे जाएंगे. परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग होगी, जिसमें प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक तिहाई अंक काट लिए जाएंगे। यानी 3 गलत जवाब पर 1 अंक काट लिए जाएंगे.

गणित सेक्शन के लिए NCERT की किताब पढ़ें

ग्रुप-D की परीक्षा में गणित सेक्शन के प्रश्न बिल्कुल बेसिक लेवल के आते हैं. जिसको लेकर छात्र अक्सर कई तरह की किताबों से पढ़ने लगते हैं. बाद में कॉन्सेप्ट क्लियर नहीं रहता है और परीक्षा से पहले सब भूलने लगते हैं. इसलिए सबसे अच्छा है कि आप एनसीईआरटी की किताब से तैयारी करें। साथ ही पुराने नोट्स की मदद भी लें.

करंट अफेयर्स पर फोकस करें

इस परीक्षा में करंट अफेयर्स से करीब 20 प्रश्न पूछे जाते हैं। यह विषय स्कोरिंग के लिए सबसे सही विषय है. आपको इसके लिए ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं है, बल्कि पिछले 1-2 साल के मुख्य घटनाओं को ध्यान में रखना है. इसके लिए आपको रोजाना न्यूज़ पेपर, मैगज़ीन पढ़ने की आवश्यकता है. रोजाना एक नियम के अनुसार आपको यह काम करना होगा. आप आसानी से 20 में से 20 अंक हासिल कर सकते हैं.

गलत जवाब देने से बचें

परीक्षा में गलत जवाब देने से निगेटिव मार्किंग होगी, जिससे अंक कम हो सकते हैं, इसलिए सही जवाब देने की कोशिश करें, जवाब नहीं आने पर प्रश्न को छोड़ देने में भलाई है. यदि आप किसी प्रश्न में 100% कन्फर्म नहीं है तो आप उसे छोड़ कर आगे बढ़ जाएं. आपको प्रत्येक प्रश्न के लिए महज महज 30-35 सेकंड का समय मिलेगा इसलिए आपको खुद को कम समय में सही जवाब देने के लिए तैयार करना होगा. ज्यादा से ज्यादा प्रश्नों के जवाब कन्फर्म होने पर ही दें.

पुराने पेपर सॉल्व करें

परीक्षा की बेहतर तरीके से तैयारी करने का सबसे सही तरीका है पुराने प्रश्नपत्रों को सॉल्व करें. इससे आप पेपर के सही पैटर्न को जान सकेंगे. साथ ही विषयवार तैयारी भी कर सकेंगे। पुराने पेपर को सॉल्व करने से आपकी प्रैक्टिस भी हो जाएगी.वहीं पुराने प्रश्नों को हल करते वक़्त आप खुद की क्षमता का भी आकलन कर सकतें हैं. प्रैक्टिस से यह भी अनुमान लगाया जा सकता है कि कैसे प्रश्न में आपको कितना समय लग रहा है.

वेतनमान

RRB ग्रुप-D के कर्मचारियों को शुरुआत में वेतन 18,000 बेसिक पे मिलता है। जो 7 वें वेतन आयोग के लेवल-1 के अन्तर्गत आता है. इसलिए सभी पोस्ट पर समान सैलरी होती है। वहीं भत्तों का आबंटन पोस्ट के स्थान के आधार पर होता है.

पीबी-1 के तहत चयनित उम्मीदवारों को प्रति महीने 15600-60600 की सैलरी मिलेगी

पीबी-2 के तहत चयनित उम्मीदवारों को प्रति महीने 29900-104400 की सैलरी मिलेगी

पीबी-3 के तहत चयनित उम्मीदवारों को प्रति महीने 46800-117300 की सैलरी मिलेगी

पीबी-5 के तहत चयनित उम्मीदवारों प्रति महीने 112200-201000 की सैलरी मिलेगी

भत्ते व अन्य लाभ

ग्रुप डी के पदों पर चयनित उम्मीदवारों को सैलरी के साथ-साथ निम्नलिखित भत्तों का लाभ भी मिलता है:

1. महंगाई भत्ता

2. दैनिक भत्ता, 8 किलोमीटर से ज्यादा पर माइलेज भत्ता

3. परिवहन भत्ता

4. मकान किराया भत्ता

5. अवकाश के मामले में मुआवजा

6. नाइट ड्यूटी के लिए भत्ता

7. निर्धारित वाहन भत्ता

8. ओवरटाइम भत्ता

रेलवे ग्रुप डी भर्ती परीक्षा

चयन प्रक्रिया

उम्मीदवारों का चयन कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट (सीबीटी) और शारीरिक दक्षता परीक्षा (पीईटी) के आधार पर किया जाएगा. सीबीटी में सफल उम्मीदवारों को पीईटी में बुलाया जाएगा।

मार्क्स नॉर्मलाइजेशन और नेगेटिव मार्किंग

सीबीटी में मार्क्स नॉर्मलाइजेशन की पद्धति अपनाई जाएगी। कुल वैकेंसी के तीन गुना उम्मीदवारों को पीईटी के लिए बुलाया जाएगा

नेगेटिव मार्किंग

पिछले बार की तरह इस बार भी ग्रुप डी सीबीटी में नेगेटिव मार्किंग होगी। प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक तिहाई अंक काट लिया जाएगा.

Posted By: Shaurya Punj

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें