1. home Home
  2. career
  3. 20 year old kirti sundaramoorthi suffering from eye problem became cbse 12th topper 2021 wants to work with finance ministry or in rbi job smt

Cbse 12th Topper 2021: आंखों की समस्या से जूझ रही 20 वर्षीय कीर्ति बनी 12वीं टॉपर, जाना चाहती हैं RBI Job में

तमिलनाडु के वेल्लोर में रहने वाली 20 साल की कीर्ति सुंदरमूर्ति ने सीबीएसई की 12वीं बोर्ड के एग्जाम में 97.4 प्रतिशत अंक प्राप्त किए है. इतना ही नहीं कीर्ति 95 प्रतिशत से अधिक लाने वाले देश के टॉप 5 विद्यार्थियों में भी शामिल है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Keerthi Sundaramoorthi Cbse 12th Topper 2021
Keerthi Sundaramoorthi Cbse 12th Topper 2021
Google

Cbse 12th Topper 2021, Keerthi Sundaramoorthi: तमिलनाडु के वेल्लोर में रहने वाली 20 साल की कीर्ति सुंदरमूर्ति ने सीबीएसई की 12वीं बोर्ड के एग्जाम में 97.4 प्रतिशत अंक प्राप्त किए है. इतना ही नहीं कीर्ति 95 प्रतिशत से अधिक लाने वाले देश के टॉप 5 विद्यार्थियों में भी शामिल है.

कीर्ति को आंख की रोशनी संबंधित समस्या

बड़ी बात यह है कि कीर्ति बाकी बच्चों की तरह आंखों से ठीक से देख नहीं सकती है. उन्होंने अपनी दसवीं की एग्जाम के बाद करीब दो साल तक आंखों का इलाज करवाया.

IPMAT Exam पास किया

जब बच्चे कोविड और लॉकडाउन की क्लास ऑनलाइन कर रहे थे तो कीर्ति का अलग ही संघर्ष करना पड़ रहा था, हालांकि, उन्होंने हार नहीं मानी और आईआईएम इंदौर इंट्रेंस एग्जाम यानी आईपीएमएटी प्रवेश परीक्षा भी पास की.

सुधारना चाहती है देश की अर्थव्यवस्था

कीर्ति देश की आर्थिक स्थिति को सुधारना चाहती हैं. उन्होंने एक इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया है. अर्थशास्त्र में दिल्ली विश्वविद्यालय के बीकॉम के लिए आवेदन भी करने वाली हैं. वे बताती हैं देश की अर्थव्यवस्था को सुधारना जरूरी है, कोरोना के कारण देश पीछे चला गया है.

वित्त मंत्रालय या RBI का बनना चाहती हैं हिस्सा

उन्होंने बताया कि वे यूपीएससी क्रैक करके वित्त मंत्रालय या भारतीय रिजर्व बैंक समेत देश की अर्थव्यवस्था के लिए फैक्टर जॉब में जुड़कर काम करना चाहती है. आपको बता दें कि वेल्लोर की मूल निवासी जरूर है लेकिन वे गुरुग्राम के सेक्टर 43 में एमिटी स्कूल में पढ़ाई कर रही थीं.

कीर्ति के संघर्ष के बारे में

  • उन्होंने अपने संघर्ष के बारे बताते हुए कहा कि मुझे सही मायने में 10वीं के बाद एक साल ही पढ़ने का मौका मिला.

  • वे बताती हैं कि ऑनलाइन पढ़ाई उनके लिए काफी मददगार साबित हुई.

  • इससे वे जूम करके सभी नोट्स को आसानी से लिख पाती थीं. जबकि, ब्लैकबोर्ड से क्लास में उतारना उन्हें काफी कठिन लगता था.

कीर्ति का फैमिली डिटेल

कीर्ति की एक बड़ी बहन भी है जो बैंक में जॉब करती हैं. जबकि, मां पेशे से आईटी फिल्ड में है, वहीं पिता कोका-कोला में काम करते हें.

कीर्ति के सफलता का राज

कीर्ति कहती हैं कि 12वीं की तैयारी के लिए उन्होंने एमसीक्यू प्रश्नपत्रों के साथ काफी माथापच्ची की.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें