1. home Hindi News
  2. business
  3. yes bank resumes operations as moratorium ends now customers can withdraw money from atm

Yes Bank पर लगी पाबंदी हो गयी खत्म, अब ATM से ग्राहक निकाल सकते हैं पैसे

By KumarVishwat Sen
Updated Date
यस बैंक का संकट समाप्त.
यस बैंक का संकट समाप्त.

मुंबई : यस बैंक के ग्राहकों की 13 दिन से जारी मुश्किलें समाप्त हो गयी हैं. पुनर्गठन की प्रक्रिया से गुजर रहे निजी क्षेत्र के इस बैंक ने बुधवार को कहा कि उस पर विनियामक आरबीआई की तरफ से लगी पाबंदियां हटा दी गयी हैं और सभी सेवाएं ग्राहकों के लिए फिर शुरू कर दी गयी हैं. बैंक गुरुवार से तीन दिन के लिए बैंक में कार्य का समय भी बढ़ाएगा. हालांकि, 13 दिन की रोक हटने के तुरंत बाद कुछ ग्राहकों ने सोशल मीडिया पर शिकायत की कि इंटरनेट और मोबाइल बैंकिंग समेत कुछ सेवाएं काम नहीं कर रही.

यस बैंक ने ट्विटर पर लिखा है कि हमारी बैंक सेवाएं फिर से परिचालन में आ गयी हैं. आप हमारी सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं. सहयोग और धैर्य के लिये धन्यवाद. कुछ तबकों में यह भी चिंता है कि यस बैंक से बड़ी मात्रा में जमा राशि कर निकासी हो सकती है. बैंक ने लिखा है कि आपको बेहतर सेवा देने के लिए हमारी शाखाएं 19 मार्च से 21 मार्च, 2020 तक सुबह 8.30 बजे खुलेंगी. हमने अपने वरिष्ठ ग्राहकों के लिए बैंक में कामकाज का समय बढ़ा दिया है. उनके लिये 19 मार्च से 27 मार्च तक बैंक सेवाएं शाम 4.30 से 5.30 तक उपलब्ध होंगी.

बता दें कि रिजर्व बैंक ने पांच मार्च को बैंक पर पाबंदी लगा दी थी. इसमें ग्राहकों को तीन अप्रैल तक अपने खाते से 50,000 रुपये तक निकालने की सीमा शामिल थी. साथ ही, आरबीआई ने बैंक के निदेशक मंडल को हटा दिया था. यस बैंक पुनर्गठन के तहत भारतीय स्टेट बैंक और सात वित्तीय संस्थानों ने करीब 10,000 करोड़ रुपये लगाया है. इसमें निजी क्षेत्र के संस्थान भी शामिल हैं. बैंक का जमा आधार पांच मार्च 2020 को 72,000 करोड़ रुपये घटकर 1.37 लाख करोड़ रुपये रह गया था. यह 31 दिसंबर 2019 को 2.09 लाख करोड़ रुपये था.

यस बैंक के नामित मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) प्रशांत कुमार ने मंगलवार को कहा था कि निजी क्षेत्र के बैंक ने ग्राहकों के लिए कोष की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त कदम उठाये हैं. उन्होंने कहा था कि हमारे सभी एटीएम नकदी से भरे हैं. हमारी सभी शाखाओं में नकदी की पर्याप्त आपूर्ति है. इसीलिए यस बैंक की तरफ से नकदी के मोर्चे पर कोई समस्या नहीं है.

रोक हटने के बाद कुमार अब यस बैंक के सीईओ हैं. हालांकि, रोक हटने के बाद कुछ ग्राहकों ने सेवाएं सही तरीके से शुरू नहीं होने को लेकर शिकायत की. कुछ ट्वीट का जवाब देते हुए बैंक ने इस असुविधा के लिए माफी मांगी और कहा कि बीच-बीच में उठने वाली कुछ समस्याएं हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें