1. home Hindi News
  2. business
  3. under this scheme of the government you will get cheaper gas cylinders raise benefits like this

सरकार के इस योजना के तहत मिलेगा आपको सस्ता गैस सिलेंडर, ऐसे उठायें लाभ

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर नामक सरकारी योजना का लाभ उठा कर आप सस्ता गैस सिलेंडर पा सकते हैं, इस तरह उठाएं इस योजना का लाभ
डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर नामक सरकारी योजना का लाभ उठा कर आप सस्ता गैस सिलेंडर पा सकते हैं, इस तरह उठाएं इस योजना का लाभ

जब से देश में अनलॉक 1 की शुरूआत हुई थी तब से पेट्रोल डीजल और गैस सिलेंडर के दाम बढ़ते ही जा रहे हैं. इसका असर एक मिडिल क्लास व्यक्ति पर ही पड़ रहा है. लेकिन बढ़ती हुई महंगाई के बीच हम आपके लिए एक ऐसी सरकारी योजना के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके माध्यम से आप कम दाम में ही सिलेंडर खरीद सकते हैं.

इस सरकारी योजना का नाम डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) है, इस योजना का अगर आप लाभ लेते हैं तो पैसे सीधे आपके बैंक खाते में आ जाएंगे. यही इस योजना की सबसे बड़ी खासियत है.

क्या है डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर

डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) एक तरह से सब्सिडी योजना की तरह होती है जिसमें सरकार उपभोक्ता के खाते में सीधे पैसे ट्रांसफर करती है या फिर स्कीम के तहत उस प्रोडक्ट या सर्विस की कीमत बजार भाव से कम में उपलब्ध कराती है. दूसरे विकल्प के तहत केंद्र सरकार उस प्रोडक्ट या सर्विस प्रदान करने वाली संस्था को डायरेक्ट उनके खाते में पैसे ट्रांसफर करती है. जब भी किसी योजना के तहत सरकार किसी भी उपभोक्ता के खाते में सीधे पैसा ट्रांसफर करती है उस योजना को ही हम डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर कहते हैं.

क्या है इसका फायदा

इस योजना का फायदा ये है कि जब भी सरकार किसी के खाते में पैसे भेजती है तो इसमें फ्रॉड होने के चांससेस घट जाते हैं. और पैसे सीधे लाभार्थी के खाते में पहुँच जाते हैं इसमें बिचौलियों की कोई भूमिका नहीं रहती है.

कैसे काम करती है ये योजना

डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर पर काम करने से पहले सरकार कई तरह की प्रक्रिया से गुजरती है. जिसे केंद्र सरकार अपने स्तर पर मैनेज करती है. सबसे पहले सरकार इस योजना का लाभ देने के लिए पब्लिक फाइनेंशियल मैनेजमेंट सिस्टम यानी कि PFMS रजिस्ट्रेशन के तहत वो प्रक्रिया पूरी की जाती है. इसके बाद लाभार्थियों का डेटा बेस तैयार किया जाता है. इस डिटेल्स को भरते समय बेहद सावधानी बरती जाती है. डीबीटी तहत कोई भी पेमेंट करते समय फीडबैक लूप का इस्तेमाल किया जाता है. इस योजना का लाभ लेने के लिए ग्राहकों को अपने आधार कार्ड के नंबर से एलपीजी कनेक्शन के साथ लिंक कराना होता है.

कैसे करें लिंक

आपको अगर इस योजना का लाभ उठाना हो तो ऑफ लाइन या ऑन लाइन किसी भी तरीके से लिंक करा सकते हैं, इसके अलावा आप SMS, IVRS और कस्टमर केयर के जरिए भी अपने एलपीजी कनेक्शन से लिंक करा सकते हैं.

कैसे करें ऑन लाइन लिंक

ऑन लाइन लिंक करने के लिए आपको सबसे पहले अपने मोबाईल नंबर से अपनी संस्था के कनेक्शन से रेजिस्टर करना होगा. इसके बाद आपको आधार की वेबसाइट https://rasf.uidai.gov.in/seeding/User/ResidentSelfSeedingpds.aspx पर जाकर अपनी जरूरी जानकारी भरनी पड़ेगी. इसके बाद आपको बेनीफिट टाइप में LPG, स्कीम का नाम में IOCL भरना होगा इसके बाद आपको अपनी संस्था के वितरक का नाम चुनना होगा. इसके बाद ग्राहक को अपनी ग्राहक संख्या को बताना पड़ेगा. आधार नंबर डालने से पहले आपको मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी लिखना होगा. जिसके बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना है. जिसके बाद आपके मोबाईल पर एक otp आएगा. जिसे डालने के बाद आप सबमिट बटन पर क्लिक कीजिए. आपकी लिंकिंग की प्रक्रिया पूरी जाएगी.

कस्टमर केयर में भी फोन कर आप लिंक करा सकते हैं

अपनी संस्था या एजेंसी के कस्टमर केयर पर भी फोन कर आप लिंक कर सकते हैं. इसके बाद आप चाहें तो प्रतिनिधि को अपना आधार नंबर बताएं और अपने गैस कनेक्शन से उसे लिंक करा दें.

Posted By : sameer oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें