1. home Hindi News
  2. business
  3. now you can done payments from mobile without credit card to this feature of google pay know what is the process vwt

Google Pay की इस सुविधा से अब आप बिना Credit Card के भी मोबाइल से कर सकते हैं पेमेंट, जानिए क्या है प्रक्रिया

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
सुरक्षित लेनदेन.
सुरक्षित लेनदेन.
प्रतीकात्मक फोटो.

Google Pay Tokenization Facility : अगर आप अपने क्रेडिट कार्ड के जरिए ऑनलाइन या ऑफलाइन शॉपिंग करते हैं और आपको बार-बार अपना पिन डालना पड़ता या फिर क्रेडिट कार्ड नंबर डालना पड़ता है, तो अब आप उसे भूल जाइए. SBI Card और कार्ड नेटवर्क कंपनी VISA के साथ मिलकर Google Pay आपके एक ऐसी सुविधा पेश की है, जिसके जरिए आप बिना क्रेडिट कार्ड के ही मोबाइल से ऑनलाइन या ऑफलाइन शॉपिंग करने के बाद पेमेंट कर सकेंगे. लेकिन, पैसा आपके कार्ड से ही कटेगा.

दरअसल, Online payment को और ज्यादा बेहतर बनाने के लिए दुनिया की सबसे दिग्गज आईटी कंपनी गूगल की ईकाई Google Pay ने हाल ही में कार्ड नेटवर्क कंपनी VISA और SBI Card के साथ साझेदारी करने के बाद Google Pay अपने यूजर्स के लिए टोकेनाइजेशन सुविधा को लॉन्च किया है. Google Pay और और NBA के बिजनेस हेड सजित शिवनंदन के अनुसार, उम्मीद है कि टोकन सुविधा वर्तमान समय में यूजर्स को सुरक्षित रूप से लेन-देन करने के लिए प्रोत्साहित करेगी और ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों तरह के व्यापारिक लेन-देन का विस्तार करेगी."

Google Pay पर UPI के अलावा भी अन्य पेमेंट विकल्प

बता दें कि पिछले साल सितंबर में Google for india कार्यक्रम में टोकनाइजेशन का ऐलान किया गया था. Google Pay अब सिर्फ UPI प्लेटफॉर्म से पूरी तरह ट्रांजेक्शन का प्लेटफॉर्म बन गया है. इससे पहले बैंक के UPI से ही पेमेंट होता था, लेकिन अब ग्राहक अपना कार्ड इसमें सेव करने के बाद UPI और कार्ड दोनों तरीके से पेमेंट कर सकते हैं.

क्या है टोकनाइजेशन ?

कार्ड पर होने वाली 16 अंकों की संख्या ग्राहक की पहचान मानी जाती है. वीजा उसे 16 अंकों की रैंडम संख्या में बदलकर वॉलेट में स्टोर करता है. इसके बाद कस्टमर अपने कार्ड से पेमेंट करने की कोशिश करता है, तो वीजा व्यापारी को वास्तविक संख्या नहीं बताते हुए टोकन नंबर शेयर करता है. इससे पेमेंट और ज्यादा सुरक्षित हो जाती है और इससे ये सुनिश्चित हो जाता है कि कार्ड नंबर सुरक्षित है.

Google Pay में कैसे करता है काम ?

Google Pay पर वन टाइम पासवर्ड (OTP) की सहायता से कार्ड को टोकन फ़ॉर्मेट में स्टोर किया जा सकता है. किसी भी तरह की पेमेंट के लिए Google Pay ओपन करें और कार्ड फॉर ट्रांजेक्शन सेलेक्ट करें. वन टाइम पासवर्ड से प्रमाणित करें और पेमेंट हो जाएगी. हर बार 16 अंकों का कार्ड, सीवीवी नंबर और एक्सपायरी डेट शेयर करने की जरूरत नहीं है. इससे ऑफलाइन मर्चेंट पेमेंट, बिल और ई-कॉमर्स पेमेंट हो जाता है और यह हमेशा सुरक्षित रहता है.

NFC एनेबल होना जरूरी

इसमें ग्राहकों को अपने मोबाइल फोन से पेमेंट करना है, तो NFC (Near Field Communication) एनेबल होने चाहिए. भारत में ग्राहकों के पास ऐसे मोबाइल बहुत कम हैं, इसलिए भारत में टोकन भुगतान अभी तक ज्यादा नहीं होता. गूगल पे में एक फायदा यह है कि कोई भी भारतीय QR कोड स्कैन करने के बाद कार्ड से पेमेंट कर सकते हैं.

कैसे और कहां मिलेगा इस सुविधा का लाभ ?

भारत में डिजिटल पेमेंट करने वाले सभी व्यापारिक इसका इस्तेमाल कर सकते हैं. अभी फिलहाल Axis बैंक और SBI के कार्डधारक इसका लाभ उठा सकते हैं. बाद में इसे बाकी बैंकों से भी जोड़ा जाएगा. SBI बैंक प्रमुख भागीदार है, इसलिए क्रेडिट कार्ड से भी लेन-देन करना संभव है. 25 लाख व्यापारिक पॉइंट पर इसे स्वीकार किया जा सकता है, जिनमें से 15 लाख में भारत QR कोड है.

मर्चेंट लोकशन की भी होगी शुरुआत

आपको बता दें कि Google Pay इस तरह UPI प्लेटफॉर्म से पूरा डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म बन जाएगा. इससे गूगल के लिए व्यवसाय के नए अवसर भी खुलेंगे. साथ ही यह गूगल पे के लिए नए मर्चेंट लोकेशन भी खोलेगा. फिलहाल यह कई साझेदारियों के माध्यम से ऐप पर मर्चेंट भुगतान को प्रोत्साहित करने का प्रयास कर रहा है.

Posted By : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें